राजकीय जिला चिकित्सालय में आयोजित नामी गिरामी चिकित्सको द्वारा 21 ऑपरेशन किये गए

तेज़ एक्सप्रेस न्यूज़ – प्रदीप पाल

हनुमानगढ़ / राजस्थान

हनुमानगढ़।सर्जन ऑफ इंडिया व आईएमए के तत्वावधान में टाउन स्थित राजकीय जिला चिकित्सालय में आयोजित दो दिवसीय लाइव सर्जिकल वर्कशॉप भटनेर सर्जिकोन 2019 में रविवार को नामी गिरामी चिकित्सको द्वारा 21 ऑपरेशन किये गए।इनमे से अपेंडिक्स का एक,मस्से के तीन,टीएलएच के 2,इसमें बेरियाट्रिक, नसबन्दी खुलवाने के एक आदि ऑपरेशन किये गए।समापन समारोह को सम्बोधित करते हुए विभिन्न क्षेत्रो से आये चिकित्सको ने वर्कशॉप आयोजन समिति की तारीफ करते हुए इसे एक अनूठा अनुभव बताया।उन्होंने ऑपरेशन थियेटर की व्यवस्था को लाजवाब बताते हुए कहा कि पैरामीटर्स के हिसाब से जो व्यवस्थाएं ओटी में होनी चाहिए वे सभी हमे यहां देखने को मिली।चिकित्सालय में सफाई व्यवस्था की भी उन्होंने तारीफ की।उन्होंने भविष्य में भी इसी तरह से लाइव सर्जरी वर्क शॉप के आयोजन करवाने का आह्वान आयोजन समिति से किया जिससे कि अनुभव को सांझा किया जा सके और आमजन को राहत मिले। डॉ एमपी शर्मा ने बताया कि वर्कशॉप में ऑपरेशन के लिए 55 लोगो ने पंजीकरण करवाया था जिनमे से दो दिन में 34 आधुनिक तकनीक द्वारा ऑपरेशन किये गए है बाकी लोगों का अनफिट होने की वजह से ऑपरेशन नही हो पाया। समापन कार्यक्रम में ऑपरेशन में सहयोग करने वाले चिकित्सको,नर्सिंग स्टाफ,फार्मासिस्ट ,सहायक कर्मचारियों का स्मृति चिन्ह देकर सम्मान किया गया।मंच संचालन डॉ राजीव मुंजाल ने किया।

इनके सहयोग के बिना मुमकिन नही थे ऑपरेशन

डॉ एमपी शर्मा ने बताया कि एनेस्थेसिया टीम के सहयोग के बगैर ऑपरेशन की कल्पना भी नही की जा सकती क्योंकि ऑपरेशन से पूर्व मरीज को अचेतन अवस्था मे लाने के लिए एनेस्थेसिया का महत्वपूर्ण योगदान होता है ।समापन कार्यक्रम में चिकित्सालय की एनेस्थेसिया टीम के सदस्य डॉ डीसी खत्री,डॉ अजय,डॉ अशोक,डॉ तज्ञा बराड़, डॉ सुधीर, श्रीगंगानगर से आये डॉ बी मिड्ढा, निजी एनेस्थेसिया डॉ विजय छाबड़ा,डॉ जगदीश खत्री का मुख्य अतिथि एसपी मेडीकल कॉलेज बीकानेर के पूर्व प्राचार्य डॉ हरबंस सिंह व आयोजन समिति सदस्यों का स्मृति चिन्ह देकर व शाल ओढ़ाकर सम्मान किया गया।

इन चिकित्सको ने की सर्जरी

एसोसिएशन लाइव सर्जरी वर्कशॉप मे।प्रिंसिपल कंट्रोलर जेएनयू डॉ अमिलालभट्ट,एसएमएस हॉस्पिटल जयपुर के हेड डिपार्टमेंट सर्जरी डॉ आर के जेनव, हेड इंजरी एसपीएमसी बीकानेर के प्रोफेसर डॉ अशोक परमार, एसएमएस जयपुर सर्जरी डिपार्टमेंट की प्रोफेसर डॉ प्रभा ओम, जेएलएन मैडिकल कॉलेज के प्रोफेसर डॉ श्याम भूतरा,एसपीएमसी सर्जरी बीकानेर के प्रोफेसर डॉ मोहम्मद सलीम, एसपीएमसी बीकानेर सर्जरी के
प्रोफेसर डॉ आर के काजला,एस एमएस जयपुर सर्जरी डिपार्टमेंट के प्रोफेसर डॉ जीवनराम,डॉ बीएल यादव,डॉ प्रवीण वर्मा,आईवीएफ एंड इनफर्टिलिटी स्पेशलिस्ट डॉ सीपी दाधीच, एमसीएच जीआई सर्जन डॉ संदीप जैन, सर्जिकल गेस्ट्रोइंट्रोलॉजिस्ट डॉ राजकुमार, लेप्रोस्कोपिक सर्जन डॉ हेमेंद्र शर्मा,फोर्टिस से ट्रांसफ्यूजन मेडिसिन डॉ हिमांशु शर्मा, लेप्रोस्कोपिक सर्जन डॉ ईशान इलाहाबादी,ओनको सर्जन डॉ सुनील धारणिया, एमसीएच यूरोलॉजी डॉ उज्ज्वल बंसल,एमसीएच गेस्ट्रो डॉ हरीश रहेजा आदि नामी-गिरामी सर्जन चिकित्सकों ने बेरियाट्रिक (मोटापा) सर्जरी, पाइल्स (बवासीर) की लेजर तकनीक से सर्जरी, वेरीकॉज वेन (पैरों की नसें फूलना) की सर्जरी ब्रेस्ट कैंसर, थायरॉइड, दूरबीन से पित्त की थैली की पथरी, अपेंडिक्स, प्रोस्टेट, गर्भाश्य, गुर्दे की पथरी आदि के ऑपरेशन किये ।

1 Views