आधा दर्जन से भी ज्यादा डॉक्टरों की तैनाती फिर भी केवल 2 डॉक्टरों से चलाया जा रहा है काम

तेज़ एक्सप्रेस न्यूज़ –

रिपोर्टर नरेंद्र कुमार सिंघानिया

माधवगढ़:- (जालौन )स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही मरीजों पर भारी पड़ रही है। विभाग द्वारा कोई ठोस व्यवस्था ना होने से स्वास्थ्य की व्यवस्थाएं धड़ाम हो चुकी हैं। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में 7 डॉक्टरों की पोस्ट है। उसके बावजूद यहां महज दो डॉक्टरों से काम चलाया जा रहा है। डॉ बीके राजपूत को प्रभारी होने की वजह से अक्सर मीटिंग में जाना पड़ता है,वहीं दूसरे डॉक्टर रामेंद्र पचौरी ओपीडी करने के साथ पोस्टमार्टम हाउस, नाइट ड्यूटी, एमएलसी आदि अन्य कार्यों को भी देखते हैं। ऐसी स्थिति में चिकित्सक के ऊपर भारी दबाव होता है। जिसका असर दिन में दो सैकड़ा से ज्यादा मरीजों को देखने के समय महसूस होता है। स्वास्थ्य केंद्र में लेडी डॉक्टर, हड्डी रोग और चाइल्ड स्पेशलिस्ट की पोस्ट होने के बावजूद यहां कभी कोई तैनाती नहीं हुई। कुछ दिन पूर्व यहां से डॉक्टर आरके सिंह गौर का भी तबादला कर दिया गया। जिसकी वजह से महज दो चिकित्सक से काम चलाया जा रहा है। इस मौसम में वायरल फीवर और मलेरिया के मरीज भी सैकड़ों की तादात में आ रहे हैं लेकिन उनके लिए बेहतर दवाई तक उपलब्ध नहीं है।

3 Views