जयपुर में विधानसभा के बाहर धरने पर बैठे मीडियाकर्मी

तेज़ एक्सप्रेस न्यूज़ – बी के आचार्या

जयपुर में राजस्थान विधानसभा अध्यक्ष के दफ्तर के बाहर कई मीडियाकर्मी धरने पर बैठ गए हैं. दरअसल, सरकार ने विधानसभा में पत्रकारों की एंट्री पर रोक लगाने के साथ मंत्रियों को अपने कमरों में पत्रकारों से बातचीत न करने का फैसला किया है. इस फैसले का मीडियाकर्मी विरोध कर रहे हैं.

बता दें कि राजस्थान विधानसभा का सत्र आज से शुरू हुआ है. सदन के अंदर विपक्ष के हंगामे से ज्यादा सदन के बाहर पत्रकारों का हंगामा चल रहा है. इस बार विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी ने विधानसभा के कवरेज के लिए बनने वाले पासों में भी भारी कटौती कर दी है. वरिष्ठ पत्रकारों के पास और एक संस्थान से पांच-पांच पास बनने पर रोक लगाते हुए एक संस्थान से एक पास का नियम बना दिया है, जिसमें स्वतंत्र पत्रकार और ऑनलाइन पत्रकारों के लिए कोई जगह नहीं रखी गई है.

कैमरामैन और फोटोग्राफर भी विधानसभा के अंदर नहीं जा सकते हैं. इसके अलावा पत्रकारों को पत्रकार दीर्घा के अलावा कहीं और जाने नहीं दिया जाएगा. जो पास दिए जा रहे हैं उस पर साफ लिखा हुआ है कि पत्रकार पत्रकार दीर्घा के बाहर नहीं जाएंगे .

इससे पहले विधानसभा कवरेज के लिए पास बनाने के लिए कभी परेशानी नहीं होती थी और विधानसभा उदार भाव से पत्रकारों का पास बनाता था. पुराने और स्वतंत्र पत्रकार भी कवरेज के लिए जाते थे. ऐसे पत्रकार भी जाते थे जो छोटे सप्ताहिक और मंथली मैगजीन निकालते हैं. पत्रकारों को कैंटीन में जाकर खाना खाने और चाय पीने की भी छूट हुआ करती थी. इसके अलावा हां पक्ष और ना पक्ष लॉबी में जा सकते थे.

मंत्रियों के कमरे में भी जाने की छूट थी. मगर विधानसभा के अध्यक्ष सीपी जोशी ने इस सब पर रोक लगाते हुए पत्रकारों के पास पहले की तुलना में 80 फीसदी कम कर दी है. यही नहीं विधायकों के साथ आने वाले लोगों की संख्या भी सीमित कर दी गई है. अब एक विधायक और एक अधिकारी के साथ 2 से ज्यादा लोग विधानसभा के अंदर नहीं आ सकते हैं.

विधानसभा के इस नए नियम के खिलाफ पत्रकार विधानसभा अध्यक्ष के कमरे के बाहर धरने पर बैठ गए हैं. विधानसभा के बाहर भी पत्रकार अपना विरोध जता रहे हैं. इसके पहले बीजेपी शासन के दौरान भी विधानसभा के अंदर कैमरा ले जाने पर रोक लगा दी थी. ।

1 Views