प्रधानी के चुनाव की रंजिश को ले कर गोली चली

तेज़ एक्सप्रेस न्यूज़ – नरेन्द्र सिंघानिया

उरई / जालौन

प्रधानी के चुनाव के कारण परिवार में उपजी रंजिश ने गंभीर रूप ले लिया | घटना एट थाने के चमारी गांव की है | मारपीट के बाद गोली चलने की खबर से पुलिस में हड़कंप मच गया हालांकि जांच के लिए आये एट के प्रभारी निरीक्षक उमेश चंद्र त्रिपाठी ने गोली चलने के आरोप को संदिग्ध करार दिया है |

ग्राम चमारी में 4 साल पहले हुए ग्राम पंचायत चुनाव में इरफान , और नौशाद चचेरे भाई होते हुए भी आमने सामने ताल ठोंक बैठे | कई लोगों के मध्यस्थता करने के वाबजूद कोई चुनाव मैदान से हटने को तैयार नहीं हुआ | बाद में रंजिश तब और गहरा गयी जब इरफ़ान ने तीसरे उम्मीदवार रणजीत सिंह को समर्थन दे दिया जिससे नौशाद को हार का मुंह देखना पड़ा |
प्रधान बनने पर इस अहसान के बदले रणजीत ने इरफान को ही प्रतिनिधि के तौर पर प्रधानी का कार्यभार सौंप दिया | नौशाद इसके कारण इरफ़ान से और चिढ गया और आये दिन उन में विवाद होने लगा | बुधवार को नौशाद और उसके परिजन विवाद होने पर इरफान के घर पहुंच गए जिससे दौनो पक्षो में झगड़ा हो गया | इसमें लाठी डंडे भी चले | किसी तरह मामला शांत हुआ और नौशाद परिजनो के साथ अपने घर चला गया | पर कुछ ही देर बाद नौशाद अपने ऊपर गोली चलाये जाने का शोर मचाता हुआ घर से बाहर निकला तो माहौल फिर गर्म हो गया | इसी बाच दोनों पक्ष एक दूसरे के खिलाफ मुकदमा लिखाने के लिए एट कोतवाली पहुंच गए | प्रभारी निरीक्षक उमेश चंद्र त्रिपाठी ने कहा कि गोली चलने की बात संदिग्ध लग रही है | जांच करने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी और जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी |

3 Views