बीजपुर में बिना मान्यता प्राप्त विद्यालय धड़ल्ले से चल रहे हैं

बीजपुर,सोनभद्र, (असफाक कुरैशी)
म्योरपुर शिक्षा क्षेत्र के बंका मोड़ तिराहा एवं टुनटुना पहाड़ी ग्राम सभा पिंडारी के बॉर्डर पर गैर मान्यता प्राप्त बिना बोर्ड बैनर के निजी स्कूल चलाई जा रही हैं जिसमें एलकेजी से लेकर कक्षा बारहवीं तक के छात्रों का अध्ययन अध्यापन कराया जाता है ।इन विद्यालयों के ना तो बोर्ड है ना ही मान्यता प्राप्त पंजीकरण। गांव के अभिभावकों को बहला-फुसलाकर शिक्षा माफिया किस्म के ए लोग पहले प्रलोभन देते हैं नाम लिखवा लेने की बाद अभिभावकों का शोषण करते हैं क्षेत्रीय लोगों ने ऐसे विद्यालयों की जांच करके संबंधित विभाग के उच्चाधिकारियों से कार्यवाही किए जाने की मांग किया है।क्षेत्रीय लोगों का आरोप है कि बंका मोड़ तिराहे पर संचालित विद्यालय में सरकार के एक पाठ्यक्रम की पुस्तकें पढ़ाने का आदेश जारी किया गया है लेकिन इन बगैर मान्यता प्राप्त विद्यालयों में एलकेजी से लेकर कक्षा 8 तक के विद्यार्थियों को प्राइवेट प्रकाशन की पुस्तकों से जहां पढ़ाया जा रहा है वहीं बच्चों के लिए ड्रेस टाई बेल्ट आदि दुकान की दुकान खोलकर मनमाने ढंग से पैसे लिए जाते हैं वही शिक्षा के नाम पर ऐडमिशनशुल्क, परीक्षा शुल्क एवं शिक्षण शुल्क मनमानी तरीके से लिया जा रहा है। आदिवासी बाहुल्य इस इलाके में मात्र एक सरकारी इंटरमीडिएट कॉलेज चपकी है जो इन गांव से काफी दूर होने की कारण बच्चे स्कूल नहीं जा पाते स्थानीय शिक्षा माफियाओं द्वारा संचालित बगैर मान्यता प्राप्त विद्यालय में पढ़ने के लिए स्थानीय बच्चे बिवश है। जबकि इन विद्यालयों में पढ़ने वाले योग्य शिक्षक भी नहीं है जो बच्चों को अच्छी तालीम और शिक्षा दें ।मात्र टाई बेल्ट किताब की दुकान शोरूम की तरह खोलकर ब्यवसाय मात्र किया जा रहा है। स्थानीय भोले-भाले ग्रामीण इलाकों के बच्चों का पढ़ाने के नाम पर शोषण किया जा रहा है।ए सब कैसे चल रहा गोरख धंधा बिभाग के बिना मिलीभगत से ऐसा हो ही नही सकता संलिप्तता इससे साफ जाहिर हो रहा है कि सरकार के सख्त आदेश के बावजूद ए सब कैसे चल रहा है । क्षेत्र में प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालय में योग्य शिक्षक हैं लेकिन बच्चो की जो संख्या होनी चाहिए नही है जबकि सरकार गरीबो के पढ़ने वाले बच्चों को खाना ,पहनना सब कर रही है।लेकिन शिक्षा माफियाओं के बहकावे व अच्छी शिक्षा देने के प्रलोभन में आकर गांव की आदिवासी ग्रामीण भोली-भाली जनता इनके चंगुल में फंसकर ठगी जा रही है ।लोगों ने इन शिक्षा माफियाओं द्वारा संचालित विद्यालयों की जांच कर कार्यवाही किए जाने की मांग किया है। इस बाबत म्योरपुर खंड शिक्षा अधिकारी एस पी सहाय से जब जानकारी ली गई तो उन्होंने बताया कि जाँच कर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

2 Views