वह मैच जिसके कारण दो देशों के बीच हुई 100 घंटे की जंग, मारे गए हजारों लोग

तेज़ एक्सप्रेस न्यूज़ – विष्णु गुप्ता

क्रिकेट के मैच में जिस तरह भारत और पाकिस्‍तान के बीच मैच के दौरान दोनों देशों के बीच प्रतिद्वंद्विता देखने को मिलती है, उसी तरफ फुटबाल मैच के दौरान भी कई पड़ोसी देशों के बीच जुनून इस हद तक बढ़ जाता है कि वह तनाव की शक्‍ल ले लेता है. लेकिन क्‍या कभी किसी मैच के कारण युद्ध हुआ है तो इसका जवाब हां होगा.

इस तरह का एक फुटबाल मैच आज से 50 साल पहले 27 जून, 1969 को मेक्सिको सिटी में खेला गया था. 1970 के मेक्सिको फुटबाल वर्ल्‍ड कप के क्‍वालीफाई मैच के लिए सेंट्रल अमेरिकी देशों होंडुरास और अल-सल्‍वाडोर के बीच ये मुकाबला हुआ था. वर्ल्‍ड कप में क्‍वालीफाई करने के भीषण कंपटीशन में कुछ हफ्तों के भीतर इनके बीच ये तीसरा मैच था. पहले मैच में होंडुरास 1-0 से जीता था. दूसरे मैच में अल-सल्‍वाडोर 3-0 से जीता था. इन दोनों ही मैचों के दौरान हिंसा की खबरें आई थीं. अब सबकी निगाहें तीसरे मैच पर थीं क्‍योंकि इसको जीतने वाली टीम को ही वर्ल्‍ड कप का टिकट मिलना था. लिहाजा इस मैच के लिए फुटबाल प्रशंसकों की दीवानगी सिर-चढ़कर बोल रही थी.

तीसरा मैच 27 जून, 1969 को मेक्सिको सिटी के अज्‍टेका स्‍टेडियम में खेला गया. उस मैच में निर्धारित 90 मिनट की अवधि के दौरान दोनों टीमों के बीच मुकाबला 2-2 की बराबरी पर छूटा. एक्‍स्‍ट्रा टाइम के 11वें मिनट में अल-सल्‍वाडोर के मॉरीसियो पीपो रॉड्रिगेज ने गोल दाग दिया. नतीजा अल-सल्‍वाडोर के पक्ष में 3-2 रहा. इसका नतीजा यह हुआ कि अल-सल्‍वाडोर और होंडुरास के बीच अगले कुछ हफ्तों के भीतर जंग छिड़ गई और 14-18 जुलाई, 1969 के बीच तकरीबन 100 घंटे का युद्ध हुआ. इतिहास में इसको फुटबॉल युद्ध (Football War) या सॉकर वार (Soccer War) कहा जाता है. ।

पेंटहाउस के लिए एम एस धोनी पहुंचे सुप्रीम कोर्ट, बोले- न प्रमोशन फीस मिली, न घर

तेज़ एक्सप्रेस न्यूज़ – विष्णु गुप्ता

क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी ने सुप्रीम कोर्ट पहुंच गए है. धोनी ने अपनी नई याचिका में कोर्ट से गुहार लगाई है कि आम्रपाली प्रोजेक्ट में उन्हें पेंटहाउस का कब्जा दिलाया जाए. साथ ही उसे अन्य घर खरीदारों की तरह लेनदारों की सूची में भी शामिल किया जाए.

पूर्व भारतीय कप्तान धोनी ने कोर्ट को हलफनामे के जरिए बताया है कि उसने रांची में आम्रपाली सफायर में पेंटहाउस बुक कराया था. तब आम्रपाली ग्रुप के मैनेजमेंट ने गुमराह कर हसीन सपने दिखाए थे. इसी चक्कर मे आम्रपाली ने उनको अपने प्रोजेक्ट्स का ब्रांड एंबेसडर भी बनाया था.

धोनी ने कोर्ट से कहा है कि उसे ठगा गया है. उसके ब्रांड प्रमोशन के करोड़ो रूपये भी बकाया हैं और घर नहीं मिला सो अलग. इससे पहले एक याचिका में धोनी ने कंपनी पर करीब 40 करोड़ रुपये का बकाया न चुकाने का आरोप लगाया और मांग की थी कि इसके एवज में समूह की कुछ जमीन अपने लिए सुरक्षित रखने की जाए.
बता दें, साल 2009 में धोनी आम्रपाली समूह के ब्रांड एंबेसडर बने थे. धोनी छह साल तक समूह के साथ जुड़े रहे, लेकिन साल 2016 में जब कंपनी पर खरीददारों को ठगने का आरोप लगा, तब उन्होंने आम्रपाली से खुद को अलग कर लिया.।

पिकअप-ट्रैक्टर भिड़ंत में आधा दर्जन घायल

तेज़ एक्सप्रेस न्यूज़ –

नरेन्द्र कुमार सिंघानिया/जालौन

जालौन । बंगरा मार्ग पर सुढ़ार मोड़ पर ओवरटेक करने के चक्कर में पिकअप ट्रेक्टर से टकरा गयी जिससे पिकअप आधा दर्जन लोग घायल गये जिन्हें सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में भर्ती कराया गया है।
सिलउआ माधौगढ़ में आयोजित शादी समारोह से बारातियों को लेकर आ रही पिकअप बंगरा मार्ग पर सुढ़ार मोड़ के पास आगे जा रहे ट्रैक्टर को ओवरटेक करने के चक्कर में टकरा गयी। ट्रैक्टर के अगले पहिया से टकराई पिकअप पलट गयी जिससे उसमें भरा दहेज का बिखर गया तथा बराती सुमित 20 वर्ष पुत्र चन्द्रभान, कन्हैया 24 वर्ष पुत्र मन्नी लाल, कल्लु 43 वर्ष पुत्र राकसी निवासीगण रावतान, बंटू 22 वर्ष पुत्र परशुराम निवासी कछोरन, धर्मेन्द्र 30 वर्ष पुत्र रमेश चन्द्र निवासी क्यामदी, बन्नू 20 वर्ष पुत्र उदयभान निवासी लौना घायल हो गये हैं। घटना की सूचना मिलने पर चैकी प्रभारी शीतला प्रसाद मिश्रा तथा कोतवाली प्रभारी देवेन्द्र सिंह मौके पर पहुंचे तथा घायलों को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में भर्ती कराया गया है जहां पर घायलों का उपचार चल रहा है। नगर रावतान निवासी गौरव पुत्र महेश यादव की बारात सिलाउआ गुरुवार को गयी थी। शुक्रवार को विदाई के बाद कुछ बारातियों तथा विवाह में मिले उपहार के सामान को लेकर घर वापस आ रही थी।

कान्हा हास्पिटल के रेस्टोरेंट में आग, लाखों का हुआ नुकसान, डेढ़ घंटे की मशक्कत के बाद दमकल विभाग ने बुझायी आग

तेज़ एक्सप्रेस न्यूज़ –

नरेन्द्र कुमार सिंघानिया/जालौन

उरई । कालपी रोड पर राजकीय मेडिकल कालेज के सामने शुक्रवार को दोपहर में एक निजी अस्पताल में आग लग जाने की अफवाह से खलबली मच गई। खबर पा कर पुलिस अधीक्षक स्वामी प्रसाद भारी फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। दरअसल आग कान्हा अस्पताल के रेस्टोरेंट में लगी थी। दमकल गाड़ियों की लगभग डेढ़ घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू लिया गया है।
रेस्टोरेंट के एक कर्मचारी ने बताया कि रेस्टोरेंट में आए एक ग्राहक ने गर्मी लगने की शिकायत की जिस पर उसने एसी आॅन कर दिया। जैसे ही एसी चालू हुआ उसमें से तेज आवाज निकली और पूरा एसी जलने लगा। रेस्टोरेंट के फर्नीचर और किचन में रखे तेल के कारण आग ने कुछ ही देर में प्रचंड रूप धारण कर लिया । इसी बीच फायर स्टेशन को सूचना दे दी गयी थी जिससे चार दमकल गाड़ियां मौके पर पहुंच गयी। बाद में एसपी ने स्वयं मौके पर पहुंच कर बचाव अभियान की निगरानी की । कर्मचारी ने बताया कि जिस समय आग लगी रेस्टोरेंट में केवल चार ग्राहक थे । उन्हे कोई हानि नहीं हुई। अस्पताल के संचालक डा. अनूप अवस्थी ने बताया कि अग्निकांड में रेस्टोरेंट पूरी तरह खाक हो गया है। लाखों रुपए के नुकसान का अनुमान है। उन्होने अग्नि सुरक्षा का प्रमाण पत्र न होने से इंकार किया। यह भी दावा किया कि आग पर काबू पाने के पर्याप्त संसाधनों की व्यवस्था अस्पताल में थी ।

बालाकोट में ही बना था पुलवामा हमले का प्लान, भारत ने वहीं गिराए बम

भारत ने सीमापार पाकिस्तान स्थित बालाकोट में आतंकी गुट जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों पर हमला कर पुलवामा हमले का बदला ले लिया है. भारतीय वायु सेना की कार्रवाई में आतंकवादी, प्रशिक्षक, शीर्ष कमांडर और जिहादी मारे गए है. वहीं भारतीय वायु सेना के प्रमुख बीएस धनोआ पहले ही एयर स्ट्राइक के बारे में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को जानकारी दे चुके थे.

सूत्रों के मुताबिक पुलवामा में सीआरपीएफ काफिले पर हमले के बाद 15 फरवरी को ही वायु सेना प्रमुख धनोआ ने NSA को आतंकी संगठनों के शिविरों पर स्ट्राइक की योजना के बारे में बताया था. सूत्रों ने हमले के लिए बालाकोट को चुने जाने की वजह भी बताई. कहा जा रहा है कि पुलवामा में भारतीय सुरक्षा बलों पर हमले की साजिश पाकिस्तान के बालाकोट में CRPF काफिले की योजना आतंकियों ने तैयार की थी. बोलकोट में एयर स्ट्राइक की एक दूसरी वजह यह भी रही क्योंकि पाकिस्तान की सेना नियमित तौर पर इस इलाके में आतंकियों को प्रशिक्षित करती है ताकि भारत के खिलाफ हमला किया जा सके.

हार्दिक-राहुल को लेकर द्रविड़ ने कहा- दोनों अभी भी आदर्श खिलाड़ी बन सकते हैं

[ad_1]



नई दिल्ली. पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ ने हार्दिक पंड्या और लोकेश राहुल को सलाह दी है कि विवाद के बाद अब आगे बढ़ने का समय है। द्रविड़ ने कहा, “अब दोनों मैदान में बेहतरीन प्रदर्शन करेंगे। दोनों अभी भी सबके लिए आदर्श खिलाड़ी बन सकते हैं।” करण जौहर के टीवी चैट शो में महिलाओं पर की गई आपत्तिजनक टिप्पणी के मामले में हार्दिक-राहुल पर प्रतिबंध लगा दिया गया था। हालांकि, बाद में इसे हटा लिया गया। हार्दिक भारतीय टीम और राहुल इंडिया-ए के साथ जुड़ गए हैं।

  1. द्रविड़ ने खेल वेबसाइट क्रिकइंफो से कहा, ‘मुझे खुशी है कि उन पर से निलंबन हटा लिया गया। अब इस मामले की जांच पूरी होनीचाहिए। दोनों ने पहले ही अपनी गलती स्वीकार कर ली थी। उन्हें सार्वजनिक रूप से काफी कुछ झेलना पड़ा। दोनों के लिए अब आगे बढ़ने का समय है।”

  2. इंडिया-ए और अंडर-19 टीम के कोच द्रविड़ ने कहा, “मैं ईमानदारी से कहूं तो मुझे विश्वास है कि दोनों ने अभी तक अपनी उच्च क्षमता हासिल नहीं की है, जो उनके पास है। यह विवाद उन्हें बेहतरीन क्रिकेटर बनने के लिए प्रेरित कर सकता है। इससे वे खेल के उच्च स्तर तक पहुंच सकते हैं।”

  3. भारतीय टीम के लिए तीन वर्ल्ड कप खेलने वाले द्रविड़ ने कहा, “मैंने दोनों को क्रिकेट के कई स्तरों पर कोचिंग दी है। मुझे ऐसा लगता है कि चैट शो में उनकी सहीछवि सामने आई है। अब वे इससे सीखेंगे और मजबूती से आगे बढ़ेंगे।”

    1. Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


      राहुल द्रविड़ इंडिया-ए और भारतीय अंडर-19 टीम के कोच हैं।


      चैट शो में हार्दिक पंड्या (बाएं), करण जौहर और केएल राहुल। – फाइल

      [ad_2]

      Source link

कोहली ने फेडरर से मुलाकात पर कहा- उनके साथ बेहतरीन समय गुजरा

[ad_1]



खेल डेस्क. विराट कोहली ने 2019 की शुरुआत बेहतरीन तरीके से की। उन्होंने अपनी कप्तानी में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट और वनडे सीरीज जीती। ऑस्ट्रेलिया दौरे के दौरान कोहली पत्नी अनुष्का शर्मा के साथ ऑस्ट्रेलियन ओपन देखने गए थे। इस दौरान दोनों ने वहां टेनिस स्टार स्विट्डरलैंड के रोजर फेडरर से मुलाकात की थी। कोहली ने बीसीसीआई टीवी से बताया, “वे इस बात से आश्चर्यचकित हो गए कि फेडरर उन्हें अभी भी जानते हैं। इससे पहले भी हममिल चुके थे।टेनिस स्टार के साथ बेहतरीन समय गुजरा।”

  1. कोहली ने फेडरर से मैच की तैयारियों के बारे में बात की। उन्होंने कहा, “मैं उनसे पहले भी कई बार मिल चुका है। फेडरर ने मुझे बताया कि वह कुछ साल पहले सिडनी में मुझसे मिले थे। तब एक प्रदर्शनी मैच के लिए मैं सिडनी में था।”

    VIRAT

  2. कोहली ने कहा, “मेरे लिए यह अनुभव बेहतरीन रहा। मैं उसे बयां नहीं कर सकता हूं। मैं बचपन से उन्हें खेलते देख रहा हूं। वे एक महान खिलाड़ी हैं। सिर्फ एक खिलाड़ी ही नहीं बल्कि एक बेहतरीन इंसान भी हैं।”

  3. भारतीय कप्तान ने कहा, “वे मुझसे सवाल पूछ रहे थे। मैं हैरान था कि वे मुझसे सवाल पूछ रहे थे। मैं उनसे खेल में मानसिकता के बारे में बात कर सकता था। वे खुद को कैसे तैयार करते हैं? अपने खेल को लेकर वे क्या सोचते हैं? वह समय बेहतरीन रहा।”

    1. Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


      virat kohli on meeting roger federer reveals what he discussed with him

      [ad_2]

      Source link

न्यूजीलैंड से मैच कल, टीम इंडिया की सीरीज जीतने पर नजर

[ad_1]



खेल डेस्क.टीम इंडिया न्यूजीलैंड के खिलाफ तीसरा वनडे सोमवार को माउंट माउनगानुई में खेलेगी। भारतीय टीम पांच वनडे की सीरीज में 2-0 से आगे है। ऐसे में उसकी कोशिश तीसरे मुकाबले को जीतकर सीरीज अपने नाम करने की होगी। टीम इंडिया यदि ऐसा करने में सफल रही तो वह न्यूजीलैंड में 10 साल बाद द्विपक्षीय वनडे सीरीज जीतेगी। दूसरी ओर, न्यूजीलैंड यह मैच जीतकर सीरीज में वापसी करने की कोशिश करना चाहेगी।

भारतीय टीम न्यूजीलैंड में 1976 से द्विपक्षीय सीरीज खेल रही है। उसकी यह 8वीं द्विपक्षीय वनडे सीरीज है। इसमें वह अब तक सिर्फ एक सीरीज जीत पाई है।टीम इंडिया ने मार्च 2009 में पांच मैच की सीरीज 3-1 से अपने नाम की थी। उस सीरीज का चौथा वनडे बेनतीजा रहा था।

सीरीज के टॉप-5 स्कोरर में से 3 भारतीय

सीरीज के शुरुआती दोनों वनडे में टॉप-3 स्कोरर भारतीय हैं।ओपनर शिखर धवन दो मैच में 141 रन के साथ पहले नंबर पर हैं।रोहित शर्मा 98 और विराट कोहली88 रन बनाकर दूसरे और तीसरे नंबर पर हैं। महेंद्र सिंह धोनी को सिर्फ दूसरे वनडे में बल्लेबाजी का मौका मिला। वे 48 रन बनाकर नाबाद लौटे।

कुलदीप सीरीज के हाइएस्ट विकेटटेकर

गेंदबाजी विभाग की बात करें तो यहां भी भारतीय टीम हावी रही है। भारतीय गेंदबाजों ने दोनों वनडे में न्यूजीलैंड टीम को ऑलआउट किया। उसके 20 में से 14 विकेट भारतीय स्पिनर्स ने लिए। कुलदीप यादव दो मैच में आठ विकेट लेकर पहले नंबर पर हैं। युजवेंद्र चहल और मोहम्मद शमी 4-4 विकेट लेकर दूसरे नंबर पर हैं। तीसरे वनडे में इन लोगों से ऐसे ही प्रदर्शन की उम्मीद है।

न्यूजीलैंड को सीरीज मेंवापसी के लिए बड़ी साझेदारी करनी होगी
न्यूजीलैंड के पक्ष से देखें तो सीरीज में अब तक उसके बल्लेबाज अच्छा प्रदर्शन करने में नाकाम रहे हैं। कप्तान केन विलियम्सन ही अपनी भूमिका के साथ थोड़ा न्याय करते दिखे हैं। उन्होंने दो मैच में 42 के औसत से 84 रन बनाए हैं। निचले क्रम में डग ब्रेसवेल ने दो मैच में 32 के औसत से 64 रन बनाए हैं। दोनों ही मैच में न्यूजीलैंड टीम की शुरुआत खराब रही है। उसको यदि सीरीज में वापसी करनी है तो ओपनर्स मार्टिन गुप्टिल और कॉलिन मुनरो कोबड़ी साझेदारी करनी होगी।

कीवी गेंदबाजों का अब तक का प्रदर्शन निराशाजनक
गेंदबाजी में भी कीवी टीम फिसड्डी रही है। दो मैच में उसके गेंदबाज भारतीय टीम के सिर्फ 6 खिलाड़ियों को पवेलियन पहुंचा पाए। उसके सबसे सफल गेंदबाज लॉकी फर्ग्युसन हैं, लेकिन वे भी 122 रन देकर सिर्फ 3 विकेट ही हासिल कर पाए हैं। वहीं, 73 वनडे का अनुभव रखने वाले ट्रेंट बोल्ट भी खास प्रदर्शन नहीं कर पाए हैं। उन्होंने दो मैच में 16 ओवर गेंदबाजी की और 80 रन देकर सिर्फ दो विकेट लिए। भारतीय बल्लेबाजों पर अंकुश लगाने के लिए उसके गेंदबाजों को शुरुआत में ही विकेट झटकने होंगे।

दोनों टीमें इस प्रकार हैं :

भारत : विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा, शिखर धवन, महेंद्र सिंह धोनी, रविंद्र जडेजा, केदार जाधव, दिनेश कार्तिक, कुलदीप यादव, भुवनेश्वर कुमार, मोहम्मद शमी, खलील अहमद, युजवेंद्र चहल, मोहम्मद सिराज, हार्दिक पंड्या, विजय शंकर, शुभमन गिल।

न्यूजीलैंड : केन विलियम्सन (कप्तान), ट्रेंट बोल्ट, डग ब्रेसवेल, कोलिन डि ग्रांडहोम, लॉकी फर्ग्युसन, मार्टिन गुप्टिल, मैट हेनरी, टॉम लाथम, कॉलिन मुनरो, हेनरी निकोलस, ईश सोढ़ी, मिशेल सैंटनर, टिम साउदी, रॉस टेलर।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


India vs New Zealand ODI Series: Third Match Preview News And Updates


India vs New Zealand ODI Series: Third Match Preview News And Updates


India vs New Zealand ODI Series: Third Match Preview News And Updates

[ad_2]

Source link

नेपाल के रोहित ने सचिन का 30 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ा, 16 साल 146 दिन की उम्र में फिफ्टी लगाई

[ad_1]



दुबई. नेपाल के रोहित पॉडल ने शनिवार को सचिन तेंदुलकर का 30 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ दिया। रोहित ने संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के खिलाफ वनडे में 58 गेंद में 55 रन की पारी खेली। रोहित ने 16 साल 146 दिन की उम्र में अपना पहला अंतरराष्ट्रीय अर्धशतक लगाया। इसके साथ ही उन्होंने पुरुष अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे कम उम्र में अर्धशतक लगाने का रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया। इससे पहले यह रिकॉर्ड सचिन तेंदुलकर के नाम था। हालांकि, पुरुष और महिला अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के मामले में यह रिकॉर्ड दक्षिण अफ्रीकी महिला टीम की जोहमारी लोगटेनबर्ग के नाम है। जोहमारी 14 साल की उम्र में वनडे में अर्धशतक लगा चुकी हैं।

सचिन ने नवंबर 1989 में बनाया था रिकॉर्ड
सचिन ने अपना पहला अंतरराष्ट्रीय अर्धशतक 23 नवंबर 1989 को फैसलाबाद में पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट में लगाया था। उस टेस्ट की पहली पारी में सचिन ने 59 रन बनाए थे। तब सचिन की उम्र 16 साल 213 दिन थी। रोहित की इस उपलब्धि पर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने ट्वीट कर उन्हें बधाई दी है।

रोहित वनडे में डेब्यू करने वाले चौथे सबसे युवा
रोहित ने अगस्त 2018 में 15 साल 335 दिन की उम्र में अपना पहला अंतरराष्ट्रीय मैच खेला था। वे वनडे में डेब्यू करने वाले चौथे और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू करने वाले सातवें युवा पुरुष क्रिकेटर हैं। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे कम उम्र में डेब्यू करने का रिकॉर्ड कुवैत के मीत भवसार के नाम है। भवसार ने इस साल 20 जनवरी को 14 साल 211 दिन की उम्र में मालदीव के खिलाफ टी-20 मैच से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू किया।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू करने वाले रोहित से कम उम्र के 6 खिलाड़ी
भवसार के बाद पाकिस्तान के हसन रजा का नंबर आता है। हसन ने 30 अक्टूबर 1996 को 14 साल 233 दिन की उम्र में जिम्बाब्वे के खिलाफ वनडे से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण किया था। तीसरे नंबर पर पाकिस्तान के मुश्ताक मोहम्मद हैं। उन्होंने 15 साल 124 दिन की उम्र में वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट मैच से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू किया था। केन्या के गुरदीप सिंह चौथे नंबर पर हैं। उन्होंने 15 साल 258 दिन की उम्र में अफगानिस्तान के खिलाफ वनडे खेलकर अपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की शुरुआत की थी। हॉन्गकॉन्ग के वकास खान पांचवें नंबर पर हैं। वकास ने 15 साल 259 दिन की उम्र में नेपाल के खिलाफ टी-20 से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में कदम रखा था। छठा नंबर कनाडा के नितीश कुमार का है। उन्होंने 15 साल 273 दिन की उम्र में अफगानिस्तान के खिलाफ वनडे से अपना अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर शुरू किया था।

नेपाल ने यूएई को दिया था 243 रन का लक्ष्य
इस मैच में नेपाल ने टॉस जीता और बल्लेबाजी का फैसला किया। उसने 50 ओवर में नौ विकेट पर 242 रन बनाए। उसे इस स्कोर तक पहुंचाने में रोहित के अलावा ज्ञानेंद्र मल्ला (44) और आरिफ शेख (29) ने भी अहम भूमिका निभाई। यूएई के लिए आमिर हयात ने 41 और इमरान हैदर ने 54 रन देकर 3-3 विकेट लिए।

नेपाल के सोमपाल कामी ने 5 और संदीप लमिछने ने 4 विकेट झटके

लक्ष्य का पीछा करने उतरी यूएई की टीम 19.3 ओवर में 97 रन पर ऑलआउट हो गई। नेपाल के लिए सोमपाल कामी ने 39 गेंद में 33 रन देकर पांच विकेट झटके। वहीं, संदीप लमिछने ने 4 ओवर में 24 रन देकर 4 खिलाड़ियों को पवेलियन की राह दिखाई। इस तरह नेपाल ने 145 रन से मैच अपने नाम कर लिया।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


यूएई के खिलाफ वनडे में रोहित ने 58 गेंद में 55 रन की पारी खेली।

[ad_2]

Source link

वर्ल्ड कप जीतना है तो बीच के ओवर्स में और ज्यादा रन बनाने होंगे: विराट

[ad_1]



माउंट माउनगानुई. भारतीय टीम ने न्यूजीलैंड को दूसरे वनडे में 90 रन से हराया। हालांकि, मैच के बाद कप्तान विराट कोहली ने स्पष्ट किया कि इस प्रदर्शन के बूते टीम इंडिया वर्ल्ड कप नहीं जीत पाएगी। उनका मानना है कि अगर वर्ल्ड कप जीतना है, तो बीच को ओवर्स में हमारे बल्लेबाजों को और ज्यादा रन बनाने होंगे। टीम को इस क्षेत्र में अभी और मेहनत करने की जरूरत है।

  1. शनिवार को भारत ने न्यूजीलैंड को पांच मैचों की वनडे सीरीज के दूसरे मैच में 90 रन से हारकर 2-0 की बढ़त बना ली है। मैच में भारत ने पहले 4 विकेट पर 324 रन बनाए। इसके बाद कीवी टीम को 40.2 ओवर में 234 रन पर ऑलआउट कर दिया।

  2. कोहली ने कहा, मैच में टीम ने बल्ले से शानदार प्रदर्शन करते हुए 325 रन का टारगेट सेट किया। लेकिन, न्यूजीलैंड की बल्लेबाजी को देखते हुए यह स्कोर भी ज्यादा बड़ा नहीं था। टीम का यह संतुलित प्रदर्शन था। वर्ल्ड कप जीतने के लिए हमें और निखार लाना होगा, और ज्यादा मेहनत करनी होगी।

  3. विराट ने कहा, रोहित शर्मा और शिखर धवन ने शानदार पारी खेली। मैं भी यदि 34-40 ओवर तक टिकता तो शायद स्कोर 350 के पार जा सकता था। मेरे आउट होने के बाद नए बल्लेबाज को टिकने के लिए समय चाहिए होता है। यही वो चीजे हैं, जहां हमें वर्ल्ड कप के लिहाज से सुधार की आवश्यकता है।

  4. मैच में स्पिनर कुलदीप यादव ने 4 और युजवेंद्र चहल ने 2 विकेट लिए। इस पर कोहली ने कहा कि ये दोनों ही गेंदबाज टीम के लिए मुख्य भूमिका निभाते दिख रहे हैं। ये हमेशा ही विकेट लेने के लिए तैयार रहते हैं। यही टीम को चाहिए रहता है।

  5. ओपनर रोहित और शिखर ने मैच में 154 रन की शतकीय पार्टनरशिप की। यह उनकी 14वीं शतकीय साझेदारी थी। इस पर रोहित ने कहा, ”हम दोनों काफी समय से साथ हैं और दोनों के बीच एक अच्छी समझ है। यह टीम को अच्छी शुरुआत देने के लिए ज्यादा अच्छा है। मैं हमेशा ही शिखर के साथ खेलते हुए बल्लेबाजी को एंजॉय करता हूं।”

    1. Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


      Virat Kohli say on World Cup 2019 prepration after new zealand odi match

      [ad_2]

      Source link