कोरोना वैक्सीन के प्रयोग के लिए राजस्थान के इस पुलिसकर्मी ने शरीर दान की जताई इच्छा

कोरोना महामारी का अंधकार मिटाने के लिए आज दीप जलाएगा देश, पीएम मोदी ने की थी अपील

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश वीडियो संदेश में कहा था कि कोरोना के अंधकार को प्रकाश की ताकत से हराने की जरूरत है. इसके लिए प्रधानमंत्री ने लोगों से रविवार को रात नौ बजे नौ मिनट तक दीया जलाने की अपील की.
देश में कोरोना वायरस का संकट बढ़ता जा रहा है. संकट के इस वक्त में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों से एकजुटता का संदेश देने के लिए 5 अप्रैल को लाइटें बंद रखने का आह्वान किया. ऐसे में देश की जनता भी आज रात दीया, मोमबत्ती और मोबाइल की फ्लैश लाइट जलाकर एकजुटता दिखाने को तैयार है.
कोरोना संकट के चलते देश में 21 दिनों तक लागू किए गए लॉकडाउन के दौरान शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को वीडियो संदेश दिया था. प्रधानमंत्री ने देशवासियों से अपील करते हुए कहा कि कोरोना के अंधकार को प्रकाश की ताकत से हराने की जरूरत है. इसके लिए प्रधानमंत्री ने लोगों से रविवार को रात नौ बजे नौ मिनट तक दीया जलाने की अपील की, इसका मकसद एकजुटता का संदेश देने से है.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपील की थी कि 5 अप्रैल रविवार को रात नौ बजे नौ मिनट के लिए लोग अपने घरों की लाइटें बंद करें और दरवाजे-खिड़की पर खड़े होकर दीया, मोमबत्ती जलाएं या फिर मोबाइल की फ्लैश लाइट-टॉर्च से रोशनी करें. इस शक्ति के जरिए हम ये संदेश देना चाहते हैं कि देशवासी एकजुट हैं. पीएम ने कहा कि एकजुटता के दमपर ही इस महामारी को मात दी जा सकती है.
ग्रिड के संतुलन के लिए पर्याप्त उपाय

हालांकि ऐसी आशंका जताई जा रही थी कि एक ही समय में एक साथ लाइटें बंद होने और 9 मिनट बाद फिर से चालू होने से बिजली ग्रिड में परेशानी आ सकती है. इस मामले पर केंद्रीय ऊर्जा मंत्रालय का कहना है कि ग्रिड के संतुलन के लिए पर्याप्त उपाय किए गए हैं.
साथ ही ऊर्जा मंत्रालय ने स्पष्ट किया है कि स्ट्रीट लाइट बंद नहीं की जाएंगी. घरों के अन्य उपकरण बंद करने की जरूरत नहीं है. एसी, टीवी, फ्रिज इन सब को बंद करने की आवश्यकता नहीं है. केवल लाइट ही बंद करनी है. अस्पतालों और अन्य आवश्यक जगहों पर लाइटें जलती रहेंगी.
जनता कर्फ्यू पर थाली बजाने का किया था आह्वान

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनता कर्फ्यू का आह्वान किया था. पीएम मोदी ने अपील की थी कि 22 मार्च को जनता कर्फ्यू के दिन शाम को पांच बजे कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ रहे कोरोना कमांडोज के लिए थाली जरूर बजाएं. उस दौरान भी पूरे देश ने एकजुटता दिखाई थी और कोरोना कमांडोज के लिए ताली-थाली बजाई थी.

कोरोना से लड़ने के लिए ब्रिटेन ने बनाई 5 सूत्री रणनीति, इन दो टेस्ट पर है जोर

चीन के वुहान शहर से फैले कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया को अपनी जद में ले लिया है. इस जानलेवा वायरस से संक्रमित होने वाले मरीजों की संख्या भी अब तेजी से बढ़ती जा रही है. यही वजह है कि ब्रिटेन में 3 अप्रैल को डाउनिंग स्ट्रीट की प्रेस ब्रीफिंग में स्वास्थ्य और समाज मंत्री मैट हैनकॉक ने अप्रैल के अंत तक एक लाख टेस्ट हर दिन की क्षमता हासिल करने का वादा किया है.
पहचान खुलने से किसी परेशानी में न पड़ जाएं इसलिए ब्रिटेन की एक नर्स लिज्जी (नाम बदला हुआ) ने बात करने से पहले नाम नहीं खोलने की शर्त रखी. लिज्जी ने इंडिया टुडे को बताया कि वो बिना पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट (PPEs) के काम कर रही हैं. इसकी जगह प्लास्टिक के एप्रन, ग्लव्स के जोड़े के साथ काम करना पड़ता है जिन्हें किसी भी मरीज को छूने के बाद बदलना पड़ता है. कोविड- 19 मरीज हो तो सर्जिकल मास्क भी बदलना पड़ता है. इस सब का नतीजा ये है कि लिज्जी बीते एक हफ्ते से नर्सिंग क्वार्टर्स में सेल्फ आइसोलेशन में हैं.

लिज्जी कहती हैं, “प्रोटोकाल के हिसाब से सिर्फ उन्हीं लोगों को इजाजत दी जाती है जो अपनी कार से आते हैं और टेस्ट कराते हैं. नहीं तो औरों में भी संक्रमण फैलने का खतरा रहता है. मेरे पास कार नहीं है, इसलिए मेरा टेस्ट नहीं हो पाया. मेरी तरह ही छह और नर्स दोस्त हैं जो बिना टेस्टिंग के ही सेल्फ आइसोलेशन में हैं.

लिज्जी अकेली हैं और लंदन में उनका परिवार नहीं हैं. वो कहती हैं, “ये मुश्किल वक्त है, मुझे जरूरी सामान खरीदने खुद ही जाना पड़ता है. मैं डरती हूं क्योंकि मेरा टेस्ट नहीं हुआ है, इसलिए किसी और को वायरस का संक्रमण ना हो जाए.”

लिज्जी को फ्रंटलाइन में रह कर काम करने से कोई दिक्कत नहीं है. लेकिन वो चाहती हैं कि फ्रंटलाइन वर्कर्स को WHO की गाइडलाइन के मुताबिक समुचित PPE मिलें और उनका टेस्ट हो.
3 अप्रैल को डाउनिंग स्ट्रीट की प्रेस ब्रीफिंग में स्वास्थ्य और समाज मंत्री मैट हैनकॉक ने अप्रैल के अंत तक एक लाख टेस्ट हर दिन की क्षमता हासिल करने का वादा किया. उनके मुताबिक नब्बे हजार टेस्ट प्रति दिन के लक्ष्य को 26 दिन में ही हासिल कर लिया जाएगा. बता दें कि इस वक्त हैनकॉक खुद भी सेल्फ आइसोलेशन में हैं.

एक लाख टेस्ट प्रति दिन के लक्ष्य में कोविड- 19 से लड़ाई में इन दोनों तरह के टेस्ट को कवर किया जाएगा.

1. एंटीजेन टेस्टिंग: इससे पता चलता है कि किसी को संक्रमण है या नहीं. इस टेस्ट का नतीजा 24 घंटे में मिलता है. ब्रिटेन नेशनल हेल्थ सर्विस (NHS). फ्रंटलाइऩ स्टाफ को प्राथमिकता देना चाहता है. जिससे कि जो स्टाफ सेल्फ आइसोलेशन में है वो काम पर लौट सके और NHS की क्षमता बाधित न हो.

2. एंटीबॉडी टेस्ट: इसमें उंगली से प्रिक कर लिए गए खून के टेस्ट से पता चलता है कि क्या आपमें वायरस रहा है और अब आप ने प्रतिरोधी क्षमता हासिल कर ली है? इस टेस्ट को लोगों के लिए टारगेट किया गया है. अगर ये सटीकता के टेस्ट को पास कर लेता है तो ऐसे 1.75 करोड़ टेस्ट किट के लिए ऑर्डर दिया जाएगा.

कोरोना ने तोड़ी अमेरिका की कमर, डोनाल्ड ट्रंप ने PM मोदी से मांगी मदद

दुनिया में कोरोना वायरस के सबसे ज्यादा मरीज अमेरिका में हैं. अमेरिका में तीन लाख से ज्यादा लोग इस वायरस की चपेट में आ चुके हैं. वहीं अमेरिका में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 8 हजार से ज्यादा है.
कोरोना वायरस ने दुनिया में कोहराम मचा रखा है. कोरोना वायरस के सबसे ज्यादा मामले अमेरिका में सामने आए हैं और अमेरिका में लगातार कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है. इस बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मदद मांगी है और हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन टेबलेट्स मुहैया कराने का अनुरोध किया है.
चीन के वुहान से फैले कोरोना वायरस ने अमेरिका में सबसे ज्यादा लोगों को अपनी चपेट में लिया है. अमेरिका में कोरोना वायरस से तीन लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं. वहीं अमेरिका में कोरोना वायरस के कारण मौतों का आंकड़ा भी लगातार बढ़ता ही जा रहा है. इस बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पीएम मोदी से बातचीत की.
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन टेबलेट्स मुहैया करवाने का अनुरोध किया है. साथ ही पीएम नरेंद्र मोदी से अमेरिका के हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन ऑर्डर को जल्द रिलीज करने के लिए कहा है.

अमेरिका राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा, ‘भारत बड़ी मात्रा में इस दवा को बनाता है. भारत की जनसंख्या 1 अरब से ज्यादा है. उन्हें अपने लोगों के लिए भी इसकी जरूरत होगी. मैंने पीएम मोदी से कहा है कि अगर वो हमारे ऑर्डर को भेजते हैं तो मैं आभारी रहूंगा.’ दरअसल, हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन का इस्तेमाल कोरोना मरीजों के इलाज में किया जा रहा है.

अमेरिका में कोरोना से तबाही, एक दिन के अंदर अब तक सबसे ज्यादा मौत

चीन के वुहान से फैला कोरोना वायरस अब अमेरिका में तबाही मचा रहा है. अमेरिका में कोरोना वायरस के कारण संक्रमित लोगों का आंकड़ा 3 लाख के करीब पहुंच रहा है.
कोरोना वायरस के कारण पूरी दुनिया में हाहाकार मचा हुआ है. दुनिया के कई देश कोरोना वायरस की चपेट में है. वहीं अब कोरोना वायरस के सबसे ज्यादा संक्रमित मरीज अमेरिका में हैं. इस बीच अमेरिका में कोरोना वायरस के कारण 24 घंटे में 1400 से ज्यादा मौतें दर्ज की गई हैं.
चीन के वुहान से फैला कोरोना वायरस अब अमेरिका में तबाही मचा रहा है. अमेरिका में कोरोना वायरस के कारण संक्रमित लोगों का आंकड़ा 3 लाख के करीब पहुंच रहा है. यह आंकड़ा विश्व में अब तक सबसे ज्यादा है. वहीं कोरोना वायरस के कारण दुनिया में 24 घंटे में हुई सबसे ज्यादा मौतें अमेरिका में दर्ज की गई हैं.

कोरोना महामारी का अंधकार मिटाने के लिए आज दीप जलाएगा देश, पीएम मोदी ने की थी अपील

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश वीडियो संदेश में कहा था कि कोरोना के अंधकार को प्रकाश की ताकत से हराने की जरूरत है. इसके लिए प्रधानमंत्री ने लोगों से रविवार को रात नौ बजे नौ मिनट तक दीया जलाने की अपील की.
देश में कोरोना वायरस का संकट बढ़ता जा रहा है. संकट के इस वक्त में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों से एकजुटता का संदेश देने के लिए 5 अप्रैल को लाइटें बंद रखने का आह्वान किया. ऐसे में देश की जनता भी आज रात दीया, मोमबत्ती और मोबाइल की फ्लैश लाइट जलाकर एकजुटता दिखाने को तैयार है.

कोरोना संकट के चलते देश में 21 दिनों तक लागू किए गए लॉकडाउन के दौरान शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को वीडियो संदेश दिया था. प्रधानमंत्री ने देशवासियों से अपील करते हुए कहा कि कोरोना के अंधकार को प्रकाश की ताकत से हराने की जरूरत है. इसके लिए प्रधानमंत्री ने लोगों से रविवार को रात नौ बजे नौ मिनट तक दीया जलाने की अपील की, इसका मकसद एकजुटता का संदेश देने से है.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपील की थी कि 5 अप्रैल रविवार को रात नौ बजे नौ मिनट के लिए लोग अपने घरों की लाइटें बंद करें और दरवाजे-खिड़की पर खड़े होकर दीया, मोमबत्ती जलाएं या फिर मोबाइल की फ्लैश लाइट-टॉर्च से रोशनी करें. इस शक्ति के जरिए हम ये संदेश देना चाहते हैं कि देशवासी एकजुट हैं. पीएम ने कहा कि एकजुटता के दमपर ही इस महामारी को मात दी जा सकती है.

इंदौर के जिस इलाके में डॉक्टरों पर हुआ था हमला, वहां निकले कोरोना के 10 संक्रमित

इंदौर का यह वही इलाका है जहां 1 अप्रैल को स्क्रीनिंग करने गई स्वास्थ्य विभाग की टीम पर पथराव हुआ था जिसके बाद देश भर में घटना की निंदा हुई थी. बाद में डॉक्टरों पर हमला करने वालों पर कलेक्टर ने रासुका लगाकर जेल भेज दिया था.
मध्य प्रदेश के इंदौर में जिस टाटपट्टी बाखल इलाके में कोरोना संदिग्ध को देखने गए डॉक्टरों की टीम पर पत्थरबाजी हुई थी, उसी इलाके से कोरोना के 10 पॉजिटिव मरीज निकले हैं. यह वही इलाका है जहां 1 अप्रैल को स्वास्थ्यकर्मियों की टीम पर लोगों ने पथराव किया था.

स्वास्थ्य विभाग की ओर से देर रात जारी किए गए मेडिकल बुलेटिन के अनुसार 3 और 4 अप्रैल को भेजे गए सैंपल में से 16 पॉजिटिव मरीज पाए गए हैं. 16 में से 10 लोग इसी टाटपट्टी बाखल इलाके के हैं जहां पर पत्थरबाजी हुई थी. इनमें 5 पुरुष और 5 महिलाएं हैं. इनकी उम्र 29 साल से 60 साल तक है.

डॉक्टरों की टीम पर हुआ था हमला

इंदौर का यह वही इलाका है जहां 1 अप्रैल को स्क्रीनिंग करने गई स्वास्थ्य विभाग की टीम पर पथराव हुआ था जिसके बाद देश भर में घटना की निंदा हुई थी. बाद में डॉक्टरों पर हमला करने वालों पर कलेक्टर ने रासुका लगाकर जेल भेज दिया था.
इस बीच, गृह मंत्रालय ने डॉक्टरों और उनकी टीम की सुरक्षा को लेकर राज्यों को खत लिखा है. गृह मंत्रालय ने राज्य सरकारों को पत्र लिखकर कहा है कि जो लोग स्वास्थ्य सेवाओं में काम कर रहे हैं, उनकी सुरक्षा सुनिश्चित करें. पत्र में स्वास्थ्य और सीमावर्ती श्रमिकों पर हमले के मामलों में सख्त कार्रवाई करने के बारे में भी लिखा है. ये जानकारी गृह मंत्रालय की संयुक्‍त सचिव पुण्‍य सलिला श्रीवास्‍तव ने दी.
सिर्फ इंदौर ही नहीं, बीते दिनों देश के कई शहरों से इस तरह के मामले सामने आए थे. खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इस पर चिंता व्यक्त की थी और कहा था कि जो लोग संकट की घड़ी में भगवान के रूप में हमारे लिए काम कर रहे हैं, उनके साथ इस तरह का व्यवहार करना बिल्कुल गलत है. यूपी से लेकर बिहार तक और अन्य राज्यों में भी डॉक्टरों की टीम पर हमले की खबर है. तेलंगाना में भी एक मरीज के परिजनों ने डॉक्टरों पर हमला बोल दिया था जिसके बाद वहां की सरकार ने कड़ी कार्रवाई करते हुए मामला दर्ज किया था.

व्यापक स्तर पर मनाया गया संविधान दिवस न्यायालय परिसर स्थित बार रूम में हुआ जिला स्तरीय कार्यक्रम 

तेज़ एक्सप्रेस न्यूज़ – प्रदीप पाल
हनुमानगढ़ / राजस्थान

संविधान दिवस मंगलवार को जिले भर में व्यापक स्तर पर मनाया गया। जिला स्तरीय कार्यक्रम न्यायालय परिसर स्थित बार रूम में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, बार संघ, प्रशासन व पुलिस की ओर से संयुक्त रूप से आयोजित किया गया। जिसमें संविधान के महत्वपूर्ण तथ्यों पर प्रकाश डाला गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला एवं सेशन न्यायाधीश एव अध्यक्ष, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण ज्ञानप्रकाश गुप्ता ने की। मुख्य अतिथि जिला कलक्टर जाकिर हुसैन, विशिष्ट अतिथि पुलिस अधीक्षक श्रीमती राशि डोगरा थी। इस कार्यक्रम में एनडीपीएस जज विरेन्द्र कुमार जसूजा, पोक्सो जज मशरूर आलम खान, मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट सुश्री आशा चौधरी, एमजेएम श्रीमती अनुभूति मिश्रा, ग्राम न्यायाधिकारी सुश्री सुमन चौधरी, सीएमएचओ अरूण कुमार,सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी सुरेश बिश्नोई, एडीईओ रणवीर शर्मा, बार संघ अध्यक्ष जितेन्द्र सारस्वत व अधिवक्तागण उपस्थित थे। मंच संचालन अधिवक्ता रमेश मोदी द्वारा किया गया।
जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष ज्ञानप्रकाश गुप्ता ने संविधान के विभिन्न प्रावधानों को विस्तृत रूप से बताया। संविधान अंगीकृत करने के बावजूद देरी से क्यों लागू हुआ, इसका कारण बताया और प्रत्येक नागरिक द्वारा मौलिक कर्तव्यों की पालना किये जाने के लिए आह्वान किया। उन्होंने संविधान के प्रावधानों की पालना करने की सभी को शपथ दिलाई। मुख्य अतिथि जिला कलक्टर जाकिर हुसैन ने वर्तमान हालात व देश की विभिन्नताओं को एक सूत्र में पिरोने के लिए संविधान के प्रावधानों की पालना करने और संविधान के प्रति आस्था रखने की बात कही। विशिष्ट अतिथि श्रीमती राशि डोगरा एस.पी. ने संविधान के महत्वपूर्ण बिंदुओं पर प्रकाश डाला और संविधान को उसकी भावना के अनुरूप आत्मसार करने की बात कही।
स्थाई लोक अदालत के अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने पं. ज्वाहरलाल नेहरू का परिचय देते हुए संविधान के प्रस्तावना की पूर्ण रूप से व्याख्या की। संविधान के प्रति संसद का योगदान के बारे में बताया तथा यह कहा कि यदि संविधान अच्छा है, परन्तु लोग बुरे है तो संविधान सही रूप से कार्य नहीं करेगा और यदि संविधान बुरा है और उसे लागू करने वाले लोग सही है तो बुरा संविधान भी अच्छा संविधान बन जायेगा। सतपाल लिम्बा, अधिवक्ता ने मूल कर्तव्यों के बारे में बताते हुए हमारे आस-पास साफ-सफाई रखना भी हमारा कर्तव्य है, के बारे में बताया। शंकर सोनी, अधिवक्ता ने अभिव्यक्ति के अधिकार के बारे में बताया। महावीर स्वामी ने संविधान लागू होने से पूर्व के प्रशासन के बारे में बताते हुए वर्तमान में लागू संविधान के बारे में बताया। कार्यक्रम के अंत में सुश्री आशा चौधरी, मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट व बार संघ सचिव योगेश झोरड़ द्वारा उपस्थित अधिकारीगण एवं अधिवक्तागण को धन्यावाद ज्ञापित किया गया और अंत में सभी ने शपथ पत्र पर हस्ताक्षर किये। उसके पश्चात् माननीय डीजे साहब द्वारा उक्त कार्यक्रम में संविधान से संबंधित प्रश्नोत्तरी का आयोजन किया गया।
इससे पहले कार्यक्रम की शुरूआत जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव विजय प्रकाश सोनी ने संविधान दिवस की पूरी रूपरेखा बताते हुए की । उन्होने बताया कि 29 नवंबर 1949 को संविधान सभा द्वारा संविधान को अंगीकृत करने के 70वें वर्षगांठ के अवसर पर भारत सरकार ,सर्वोच्च न्यायालय, राजस्थान सरकार, राजस्थान उच्च न्यायालय और राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशानुसार संविधान दिवस को सभी के साथ जिला स्तर पर कार्यक्रम आयोजित करके मनाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि संविधान दिवस के 70वीं वर्षगांठ होने के कारण दिनांक 26.11.2019 से 02.12.2019 तक विशेष सप्ताह का आयोजन किया जाएगा, जिसमें पैनल अधिवक्ता, पीएलवी, विधि के विद्यार्थी, एनजीओ, न्यायिक अधिकारी, लीगल लिटरेसी क्लब के इंचार्ज, विधिक सेवा क्लिनिक पर स्थित इंचार्ज, शिक्षक, ग्राम सचिव आदि विभिन्न माध्यमों के जरिये संविधान की प्रस्तावना व मूल कर्तव्यों का वाचन करके संविधान की मुख्य विशेषताओं को बताकर व्यापक व वृहद स्तर पर संविधान दिवस को मनाया जाना है। संविधान की प्रस्तावना व मूल कर्तव्यों और संविधान के बनने की रूपरेखा व भूमिका व इतिहास के बारे में विस्तृत रूप से बताया।
संविधान दिवस पर रैली का आयोजन- जिला स्तरीय कार्यक्रम के बाद न्यायालय परिसर में ही मदान इन्टरनेशनल स्कूल के विद्यार्थियों द्वारा रैली का आयोजन किया गया और नारे लगाये गए। इस अवसर पर संविधान की पालना करने की शपथ ली और हस्ताक्षर किये। रैली में शामिल विद्यार्थियों को न्यायालय की प्रक्रिया और जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के कार्यक्षेत्र व किये जाने वाले कार्यों की जानकारी दी गई।
न्यायाधीशों ने स्कूल में जाकर संविधान की प्रस्तावना और मूल कर्त्तव्यों के बारे में बताया- संविधान दिवस के अवसर पर विभिन्न न्यायिक अधिकारियों ने स्कूलों में जाकर संविधान की प्रस्तावना व मूल कर्तव्यों के बारे में बताया व संविधान की पालना की शपथ दिलाई। एडीजे नं. 2 सत्यपाल वर्मा ने सेठ हंसराज स्कूल में, मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट सुश्री आशा चौधरी ने नेशनल पब्लिक स्कूल, एमजेएम श्रीमती अनुभूमि मिश्रा ने संस्कार इंटरनेशनल स्कूल में जाकर, एएमजेएम सुश्री राधिका सिंह चारण ने अमृत मॉडल कॉन्वेट स्कूल में जाकर और ग्राम न्यायालय की न्यायाधिकारी सुश्री सुमन चौधरी ने लिटिल हार्ट पब्लिक स्कूल में जाकर संविधान की प्रस्तावना व मूल कर्तव्यों के बारे में बताया। इसके अलावा पैनल अधिवक्ता व पीएलवी ने भी स्कूल, कॉलेज, शैक्षणिक संस्थाओं, पंचायत समिति, ग्राम पंचायत में जाकर संविधान के प्रति व्यक्तियों की आस्था बनाये रखने और संविधान दिवस पर प्रकाश डाला। छात्रावास में भी यह कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव श्री विजय प्रकाश सोनी ने बताया कि इस प्रकार के कार्यक्रमों के जरिये 2 लाख व्यक्ति तक पहुंचने का लक्ष्य रखा है।

पर्यावरण बचाने के लिए दौड़

तेज़ एक्सप्रेस न्यूज़ – प्रदीप पाल

हनुमानगढ़ / राजस्थान

रन फॉर वन में हजारों लोगों ने हिस्सा

भगत सिंह चौक से रिलायंस पेट्रोल पंप तक आयोजित हुई रन फॉर वन

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण ने पौधा लगाने व पौधा गोद लेने का दिया संदेश*

दौड़ के माध्यम से ‘‘राष्ट्रीय लोक अदालत’’ में राजीनामा योग्य प्रकरणों को निपटाये जाने का भी दिया संदेश

राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, जयपुर के निर्देशानुसार और जिला विधिक प्राधिकरण के अध्यक्ष जिला एवं सेशन न्यायाधीश हनुमानगढ़ के मागदर्शन में रविवार को जिला मुख्यालय पर रन फॉर वन जागरूकता दौड का आयोजन किया गया। जो भगतसिंह सर्किल से आरम्भ होकर राजीव चौक होते हुए रिलायंस पेट्रोल पंप पर खत्म हुई। सुबह करीब साढ़े छह बजे जिला कलक्टर जाकिर हुसैन, पोक्सो न्यायाधीश मसरूर आलम खान और एसपी कालूराम ने दौड़ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। दौड़ समाप्ति पर जिला कलेक्टर ज़ाकिर हुसैन ने पौधे को गोद लेकर उसका पालन पोषण करने व पर्यावरण संरक्षण की शपथ दिलाई। प्रतिभागियों के लिए छाछ,बिस्किट, पानी आदि की समुचित व्यवस्था की गई। जिला कलक्टर ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि आज पर्यावरण को बचाने की सख्त आवश्यता है जिस प्रकार से इस बार गर्मी पड़ी है तापमान 50 डिग्री को क्रोस कर गया। इससे हमें समझ लेना चाहिए कि धरती पर अधिक से अधिक पौधे लगाने की आवश्यकता है। एडीजे सतपाल वर्मा ने कहा कि एक व्यक्ति एक पौधा लगाकर उसका अगर संरक्षण करता है तो ये पर्यावरण के लिए बड़ा योगदान होगा। आखिर में एडीजे और जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के विजय प्रकाश सोनी ने सभी का धन्यवाद ज्ञापित करते हुए आगामी मानसून में अधिक से अधिक पौधे लगाने और उनका संरक्षण करने की आमजन से अपील की।

*दौड़ में ये अधिकारी हुए शामिल*- जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव एडीजे विजय प्रकाश सोनी ने बताया कि दौड़ में जिला कलक्टर जाकिर हुसैन, पोक्सो न्यायाधीश मसरूर आलम खान, एसपी कालूराम, एडीजे सतपाल वर्मा,सीजेएम सुश्री आशा चौधरी, एसीजेएम रमेश कुमार, एएमजेएम सुश्री राधिका सिंह, ग्राम न्यायालय न्यायाधिकारी सुश्री सुमन चौधरी, सीईओ जिला परिषद परशुराम धानका, डीएसओ अरविंद जाखड़, पीआरओ सुरेश बिश्नोई,नगर परिषद कमीश्नर शैलेन्द्र गोदारा, डीईओ माध्यमिक राजेन्द्र सिंह यादव, एडीईओ रणवीर शर्मा, अधिवक्ता संघ के उपाध्यक्ष गणेश गिल्होत्रा,एडीआर सेंटर के प्रदीप जसूजा, अनिल चौहान, लक्ष्मी नारायण, ओमप्रकाश देवड़ा आदि विभिन्न विभागों के अधिकारीगण एवं कर्मचारीगण, एनजीओ, जन समूह द्वारा प्रतिभागी के रूप में भाग लिया गया।इनके अतिरिक्त जिला शिक्षा विभाग के अंतर्गत समस्त विद्यालयों व कॉलेज के विद्यार्थियों द्वारा भी प्रतिभागियों के रूप में भाग लिया गया। इस दौड में 1500 से अधिक प्रतिभागियों द्वारा भाग लिया जाकर पर्यावरण संबंधी उद्देश्य पूरा करने में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया। मंच संचालन एडवोकेट रमेश मोदी ने किया।

*दौड़ का उद्देश्य*- जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव विजय प्रकाश सोनी ने बताया कि जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा ‘‘रन फाॅर वन’’ जागरूकता दौड का उद्देश्य ‘‘पौधे लगाने, पौधो को गोद देने एवं पर्यावरण सुरक्षा हेतु कदम उठाने के लिए प्रेरित करना’’ एवं दिनांक 13 जुलाई को आयोजित होने वाली ‘‘राष्ट्रीय लोक अदालत’’ में अधिक से अधिक संख्या में राजीनामे के जरिए प्रकरणों का निपटारा किया जाना है।

*3दौड़ में हिस्सा लेने वालों को एक-एक पौधा और सर्टिफिकेट दिया गया* राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, जयपुर के निर्देशानुसार दौड़ में भाग लेने वाले समस्त प्रतिभागियों को मौके पर वन विभाग हनुमानगढ़ के सहयोग से एक-एक पौधा दिया गया। राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, जयपुर द्वारा भेजे गए प्रमाण पत्र भी सभी प्रतिभागियों को दिए गए।

जिला कलक्टर ने घर पहुंचते ही सपत्निक लगाया पौधा – रन फॉर वन में जिला कलक्टर को एडीजे सतपाल वर्मा ने जामुन का पौधा भेंट किया। खास बात ये कि जिला कलक्टर ने घर पहुंचते ही अपनी धर्मपत्नी के साथ कलक्टर निवास परिसर में ही इस पौधे को लगाया। इस दौरान कलक्टर आवास का माली भी उनके साथ था।

धार्मिक स्थलों को नुकसान पहुंचाने वालों पर हो कड़ी कार्यवाही

– विश्व हिन्दू परिषद व बजरंग दल कार्यकर्ताओं का कलक्ट्रेट पर प्रदर्शन

तेज़ एक्सप्रेस न्यूज़ –
-प्रदीप पाल / राजस्थान

1.हनुमानगढ़. हिंदुओं के धार्मिक स्थलों को नुकसान पहुंचाने वालों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करने एवं धार्मिक स्थलों की सुरक्षा करने की मांग को लेकर शुक्रवार को विश्व हिन्दू परिषद व बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने जिला कलक्ट्रेट पर प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के बाद जिला कलक्टर को गृहमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। प्रदर्शन कर रहे उक्त हिन्दू संगठनों के कार्यकर्ताओं ने बताया कि तीन दिन पहले दिल्ली के चांदनी चौक में एक विशेष समुदाय के लोगों ने भीड़ में आकर 100 वर्ष पुराने प्राचीन मन्दिर में घुसकर आराध्य देवी-देवताओं की मूर्तियों को खण्डित कर दिया। मन्दिर को भारी नुकसान पहुंचाया। इसके साथ मन्दिर के आसपास रहने वाले हिंदुओं के घरों में भी तोड़-फोड़ की। इस कारण दिल्ली में हिंदुओं में भय का माहौल बना हुआ है। उन्होंने आरोप लगाया कि मुस्लिम समुदाय की जहां ज्यादा आबादी है, वहां पर एक विशेष योजनाबद्ध तरीके से हिंदुओं व हिंदुओं के धार्मिक स्थलों को नुकसान पहुंचाया जा रहा है। ऐसी घटनाएं आम मिलती हैं और दिल्ली की घटना इसका ताजा उदाहरण है। इस मामले को लेकर पूरे देश में रोष है। इस गंभीर विषय को लेकर विहिप व बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने हिंदुओं के धार्मिक स्थलों को दिल्ली सहित पूरे देश में सुरक्षा उपलब्ध करवाने और धार्मिक स्थलों को नुकसान पहुंचाने वाले लोगों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करने की मांग की ताकि देश में हिन्दू समाज खुद को सुरक्षित महसूस कर सके।

बिगड़ रही कानून व्यवस्था को नहीं सभाला तो भाजयुमो करेगी तेज आंदोलन: देवेंद्र पारीक
भाजयुमो जयपुर सभांग प्रभारी के नेतृत्व में हनुमानगढ़ टाउन थाना प्रभारी को दिया ज्ञापन
-प्रदीप पाल-
2.हनुमानगढ़. भारतीय जनता युवा मोर्चा राजस्थान प्रदेश के जयपुर सभांग प्रभारी देवेन्द्र पारीक के नेतृत्व में हनुमानगढ़ टाउन थाना प्रभारी को कानून व्यवस्था के संबंध में ज्ञापन दिया गया। पारीक ने बताया आए दिन घरों में चोरियां हो रही है। चैन स्नेचिंग, मोबाइल फोन छीनना एवं लूटपाट की घटनाएं बढ़ रही हैं। वहीं नशे का कारोबार भी बढ़ रहा है, जिसमें गोली, कैप्सूल, चिट्टा आदि मादक पदार्थों का नशा अत्यधिक बढ़ रहा है। छोटे छोटे बच्चे एवं नौजवान भी इसकी गिरफ्त में आ रहे हैं। चोरियां होने का यह भी एक बड़ा कारण है। परिवार के परिवार इस नशे की वजह से बर्बाद हो रहे हैं। समाज में भय का वातावरण व्यापक है। इस को लेकर थाना प्रभारी को ज्ञापन दिया गया है और शहर में गश्त बढ़ाकर एवं कानून व्यवस्था को चाकचौबंद कर इन सब चीजों पर अकुंश लगाया जाए एवं साथ ही ट्रैफिक एवं कानून व्यवस्था के नाम पर छोटे छोटे रेहड़ी व्यापारियों व छोटे दुकानदारों को ट्रैफिक व्यवस्था के नाम पर पुलिस प्रशासन द्वारा प्रताडि़त किया जाना न्यायसंगत नहीं है। इसलिए जल्द से जल्द इन समस्याओं का समाधान करें अन्यथा भारतीय जनता युवा मोर्चा आन्दोलनात्मक कार्यवाही करेगा। इसकी समस्त जिम्मेदारी पुलिस प्रशासन की होगी। इस मौके पर पार्षद महादेव भार्गव, पार्षद रमेश पेंटर, पूर्व पार्षद रोहित छापोला, कुलवंत सिंह, राम कुक्कड़, सागर शर्मा मंडल अध्यक्ष हनुमानगढ़ जंक्शन, अनिल नागपाल, हनी नागपाल ,दीपेश अरोड़ा, गुरचरण सिंह ,काला सिंह, डॉ. उदयपाल, डॉ. रामचंद्र कड़वासरा, विकास शर्मा, अमन वर्मा ,बृजलाल, संदीप बेनीवाल आदि कार्यकर्ता मौजूद थे।

जहरीले पानी से राज्य की 4 नहरें हो रही प्रदूषित, सिंचित क्षेत्र में बढ़ रहे कैंसर रोगी, इसे रोकना जरूरी: रामेश्वर वर्मा
केमिकलयुक्त गंदा पानी राजस्थान की नहरों में डालने पर रोक लगाने की मांग, मुख्यमंत्री के नाम कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन
-प्रदीप पाल-
3.हनुमानगढ़. भारत की कम्युनिस्ट पार्टी मार्क्सवादी ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री के नाम कलेक्टर को पंजाब से केमिकलयुक्त गंदा पानी राजस्थान की नहरों में डालने पर रोक लगाने बाबत ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में बताया कि पंजाब के शहरों के सीवरेज का दूषित पानी व उद्योगों का जहरीला केमिकल युक्त पानी पंजाब में ही हरीके बेराज पर सतलुज और ब्यास नदी के संगम से पहले अनेक स्थनों पर बड़े पैमाने पर और लम्बे समय से सतलुज नदी में प्रवाहित किया जा रहा है। हरिके बेराज से नहरों से होकर यह पानी राजस्थान के 8 जिलों में पेयजल व सिंचाई पानी के रूप में प्रयोग किया जात है। सतलुज में दूषित व जहरीला केमिकल युक्त पानी डालने के लिए बकयादा बड़े-बड़े नाले बने हैं। जलन्धर के पास स्थित काला संगईया ड्रैन का झागदार, काला व जहरीला पानी करीब 40 किलोमीटर चलने के बाद मलसईया के पास चिट्टी बई में मिल जाता है मलसईया से पहले भी तीन बड़े नाले चिट्टी बई में मिलते हैं। ये चिट्टी बई हरीके बेराज से पहले गिदड़ पिंडी गांव के पास सतलुज में समा जाती है। इसी तरह जलन्धर के उद्योगों से जहरीले पदार्थों को बहाकर सतलुज में डालने वाला उधा नाला लुधियाना के पास वलीपुर कल्ला के पास सतलुज में मिलता है। इस तरह चिट्टी बई बुढा नाला द्वारा सतलुज नदी के पानी को दूषित किया जाता है। पंजाब में लगे ट्रीटमेन्ट प्लांट भी सीवरेज के गंदे पानी को ट्रीट करने में सक्षम नहीं है, जबकि सीवरेज में जहरीले अपशिष्टों को प्रवाहित किए जाने की वजह से ट्रीटमेंट प्लांट भी नाकारा हो चुके हैं। यह कि दूषित पानी नहरों के माध्यम से राजस्थान के 8 जिलों में पहुंचता है। इस जहरीले व प्रदूषित पानी की वजह से राजस्थान की 4 नहर परियोजना गंगनहर, भाखड़ा व इन्दिरा गांधी नहर परियोजना के द्वारा सिंचित क्षेत्र में कैंसर के रोगियों की संख्या में वृद्धि हो रही है। नहरी क्षेत्र में दूसरी क्षेत्रों के मुकाबले 160 गुणा ज्यादा कैंसर फैल रहा है। रामेश्वर वर्मा ने बताया कि पूर्व में ये मामला उच्चतम न्यायलय व एनजीटी के में कई बार संज्ञान लिया जा चुका है लेकिन समस्या आज भी जस की तस बनी हुई है। इसलिए भारत की कम्युनिस्ट पार्टी मार्क्सवादी जिला हनुमानगढ़ मांग करती है कि पंजाब से केमिकलयुक्त गंदा पानी राजस्थान की नहरों में डालने से रोक लगाए ताकि इस क्षेत्र में जनता को होने वाले रोगों पर अंकुश लग सके अन्यथा आन्दोलन उग्र करना होगा जिसकी जिम्मेवारी प्रशासन व सरकार की होगी। इस मौके पर रामेश्वर वर्मा, रघुवीर वर्मा, बलदेव मक्कासर, बहादुर सिंह चैहान, मोहन लोहरा, पलविन्द्र सिंह व अन्य कार्यकर्ता मौजूद थे।

स्कूल बंद नहीं करने की गुहार लेकर कलक्टर के पास जाएंगे बच्चे
– कैनाल कॉलोनी विद्यालय में दूसरे दिन भी जारी रहा धरना, डीईओ से वार्ता बेनतीजा
-प्रदीप पाल-
4.हनुमानगढ़। कैनाल कॉलोनी के राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय में महात्मा गांधी अंग्रेजी माध्यम विद्यालय संचालित करने के विरोध में विद्यार्थी व उनके अभिभावक शनिवार को जिला कलक्टर से उनके आवास पर मिलकर विद्यालय को बंद नहीं करने की गुहार लगाएंगे। यह निर्णय शुक्रवार को विद्यालय में धरनास्थल पर हुई बैठक में लिया गया। बेमियादी धरना शुक्रवार को दूसरे दिन भी जारी रहा। इससे पहले शुक्रवार को जिला शिक्षा अधिकारी राजेन्द्र सिंह यादव व अतिरिक्त जिला शिक्षा अधिकारी रणवीर शर्मा वार्डवासियों से वार्ता करने के लिए धरनास्थल पर पहुंचे। उन्होंने धरना दे रहे लोगों के बीच बैठकर वार्ता की। लेकिन वार्ता बेनतीजा रही। धरनार्थियों ने डीईओ से कहा कि यह स्कूल बंद नहीं होना चाहिए। अगर स्कूल बंद हो गया तो बच्चे कहां जाएंगे। वर्तमान में राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय कैनाल कालॉनी में अध्ययनरत बच्चों को अन्यत्र नजदीक स्कूलों में प्रवेश दिलाना है लेकिन वार्ड 38, 39 व 10 में एक ही हिन्दी माध्यम राजकीय विद्यालय था। अन्य राजकीय विद्यालय 2.5 से 3 किमी की दूरी पर हैं और तीनों वार्डांे के आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों के 105 बच्चे इस विद्यालय में अध्ययनरत हैं। नजदीक स्कूल नहीं होने की वजह से इन बच्चों को अन्यत्र प्रवेश संभव नहीं है। इन वार्डांे में एक तरफ रेलवे लाइन व बाकी तीनों तरफ मु य सड़कें हैं। उन्होंने इन बच्चों के भविष्य को देखते हुए न्याय संगत व उचित कार्यवाही करते हुए इस विद्यालय को यथावत संचालित करने की मांग की। इस पर डीईओ यादव ने कहा कि उनके हाथ में कुछ नहीं है। उनकी तरफ से हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं। सरकार से बात की जा रही है। वार्ता में संतोषजनक जवाब नहीं मिलने पर वार्डवासियों ने धरना जारी रखने व शनिवार को विद्यालय में अध्ययनरत 105 विद्यार्थियों को उनके अभिभावकों के साथ जिला कलक्टर जाकिर हुसैन के समक्ष पेश करने का निर्णय हुआ। वार्ता में माकपा के राज्य सचिव मण्डल सदस्य रामेश्वर वर्मा, माकपा जिला सचिव रघुवीर सिंह वर्मा, शिव कुमार, पार्षद पति जीतू सोनी, पार्षद परमजीत सोनी, विजय कौशिक, बीएस पेंटर, मोहनलाल लोहरा, कृपाराम सिंहमार, वेद मक्कासर, नारायण नायक, प्रदीप शर्मा आदि मौजूद थे। गौरतलब है कि जंक्शन की कैनाल कॉलोनी, वार्ड न बर 38 में राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय में संचालित हो रहा था लेकिन राज्य सरकार के आदेशों की अनुपालना में इसमें महात्मा गांधी अंग्रेजी माध्यम विद्यालय संचालित होना है। वार्डवासी सरकार के इस निर्णय का विरोध कर रहे हैं।

-प्रदीप पाल-
6.हनुमानगढ़ जिले के टिब्बी कस्बे में शुक्रवार को कसवां आई टी आई में आगजनी से बचाव के लिए जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया गया कार्यक्रम में पीआर फायर सेफ्टी इंस्टीट्यूट हनुमानगढ़ जंक्शन के डायरेक्टर राजवीर व उनकी टीम ने छात्रों को आगजनी से निपटने के गुर सिखाए व प्राथमिक आग को बुझाने वह फैलने से रोकने के बारे में जानकारी दी
साथ ही साथ राजवीर ने छात्रों को एलपीजी सिलेंडर की सेफ्टी व सिलेंडर में आग लगने पर बरती जाने वाली सावधानी के बारे में भी बताया
कार्यक्रम में आईटीआई के डायरेक्टर मनेंद्र सिंह ने छात्रों को रोड सेफ्टी के बारे में अवेयर किया व सड़क सुरक्षा के नियमों का पालन करने के लिए शपथ दिलवाई कार्यक्रम के अंत में आईटीआई की प्राचार्य परविंदर कौर ने फायर सेफ्टी टीम का आभार व्यक्त किया