कोरोना महामारी का अंधकार मिटाने के लिए आज दीप जलाएगा देश, पीएम मोदी ने की थी अपील

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश वीडियो संदेश में कहा था कि कोरोना के अंधकार को प्रकाश की ताकत से हराने की जरूरत है. इसके लिए प्रधानमंत्री ने लोगों से रविवार को रात नौ बजे नौ मिनट तक दीया जलाने की अपील की.
देश में कोरोना वायरस का संकट बढ़ता जा रहा है. संकट के इस वक्त में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों से एकजुटता का संदेश देने के लिए 5 अप्रैल को लाइटें बंद रखने का आह्वान किया. ऐसे में देश की जनता भी आज रात दीया, मोमबत्ती और मोबाइल की फ्लैश लाइट जलाकर एकजुटता दिखाने को तैयार है.
कोरोना संकट के चलते देश में 21 दिनों तक लागू किए गए लॉकडाउन के दौरान शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को वीडियो संदेश दिया था. प्रधानमंत्री ने देशवासियों से अपील करते हुए कहा कि कोरोना के अंधकार को प्रकाश की ताकत से हराने की जरूरत है. इसके लिए प्रधानमंत्री ने लोगों से रविवार को रात नौ बजे नौ मिनट तक दीया जलाने की अपील की, इसका मकसद एकजुटता का संदेश देने से है.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपील की थी कि 5 अप्रैल रविवार को रात नौ बजे नौ मिनट के लिए लोग अपने घरों की लाइटें बंद करें और दरवाजे-खिड़की पर खड़े होकर दीया, मोमबत्ती जलाएं या फिर मोबाइल की फ्लैश लाइट-टॉर्च से रोशनी करें. इस शक्ति के जरिए हम ये संदेश देना चाहते हैं कि देशवासी एकजुट हैं. पीएम ने कहा कि एकजुटता के दमपर ही इस महामारी को मात दी जा सकती है.
ग्रिड के संतुलन के लिए पर्याप्त उपाय

हालांकि ऐसी आशंका जताई जा रही थी कि एक ही समय में एक साथ लाइटें बंद होने और 9 मिनट बाद फिर से चालू होने से बिजली ग्रिड में परेशानी आ सकती है. इस मामले पर केंद्रीय ऊर्जा मंत्रालय का कहना है कि ग्रिड के संतुलन के लिए पर्याप्त उपाय किए गए हैं.
साथ ही ऊर्जा मंत्रालय ने स्पष्ट किया है कि स्ट्रीट लाइट बंद नहीं की जाएंगी. घरों के अन्य उपकरण बंद करने की जरूरत नहीं है. एसी, टीवी, फ्रिज इन सब को बंद करने की आवश्यकता नहीं है. केवल लाइट ही बंद करनी है. अस्पतालों और अन्य आवश्यक जगहों पर लाइटें जलती रहेंगी.
जनता कर्फ्यू पर थाली बजाने का किया था आह्वान

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनता कर्फ्यू का आह्वान किया था. पीएम मोदी ने अपील की थी कि 22 मार्च को जनता कर्फ्यू के दिन शाम को पांच बजे कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ रहे कोरोना कमांडोज के लिए थाली जरूर बजाएं. उस दौरान भी पूरे देश ने एकजुटता दिखाई थी और कोरोना कमांडोज के लिए ताली-थाली बजाई थी.

कोरोना ने तोड़ी अमेरिका की कमर, डोनाल्ड ट्रंप ने PM मोदी से मांगी मदद

दुनिया में कोरोना वायरस के सबसे ज्यादा मरीज अमेरिका में हैं. अमेरिका में तीन लाख से ज्यादा लोग इस वायरस की चपेट में आ चुके हैं. वहीं अमेरिका में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 8 हजार से ज्यादा है.
कोरोना वायरस ने दुनिया में कोहराम मचा रखा है. कोरोना वायरस के सबसे ज्यादा मामले अमेरिका में सामने आए हैं और अमेरिका में लगातार कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है. इस बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मदद मांगी है और हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन टेबलेट्स मुहैया कराने का अनुरोध किया है.
चीन के वुहान से फैले कोरोना वायरस ने अमेरिका में सबसे ज्यादा लोगों को अपनी चपेट में लिया है. अमेरिका में कोरोना वायरस से तीन लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं. वहीं अमेरिका में कोरोना वायरस के कारण मौतों का आंकड़ा भी लगातार बढ़ता ही जा रहा है. इस बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पीएम मोदी से बातचीत की.
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन टेबलेट्स मुहैया करवाने का अनुरोध किया है. साथ ही पीएम नरेंद्र मोदी से अमेरिका के हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन ऑर्डर को जल्द रिलीज करने के लिए कहा है.

अमेरिका राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा, ‘भारत बड़ी मात्रा में इस दवा को बनाता है. भारत की जनसंख्या 1 अरब से ज्यादा है. उन्हें अपने लोगों के लिए भी इसकी जरूरत होगी. मैंने पीएम मोदी से कहा है कि अगर वो हमारे ऑर्डर को भेजते हैं तो मैं आभारी रहूंगा.’ दरअसल, हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन का इस्तेमाल कोरोना मरीजों के इलाज में किया जा रहा है.

अमेरिका में कोरोना से तबाही, एक दिन के अंदर अब तक सबसे ज्यादा मौत

चीन के वुहान से फैला कोरोना वायरस अब अमेरिका में तबाही मचा रहा है. अमेरिका में कोरोना वायरस के कारण संक्रमित लोगों का आंकड़ा 3 लाख के करीब पहुंच रहा है.
कोरोना वायरस के कारण पूरी दुनिया में हाहाकार मचा हुआ है. दुनिया के कई देश कोरोना वायरस की चपेट में है. वहीं अब कोरोना वायरस के सबसे ज्यादा संक्रमित मरीज अमेरिका में हैं. इस बीच अमेरिका में कोरोना वायरस के कारण 24 घंटे में 1400 से ज्यादा मौतें दर्ज की गई हैं.
चीन के वुहान से फैला कोरोना वायरस अब अमेरिका में तबाही मचा रहा है. अमेरिका में कोरोना वायरस के कारण संक्रमित लोगों का आंकड़ा 3 लाख के करीब पहुंच रहा है. यह आंकड़ा विश्व में अब तक सबसे ज्यादा है. वहीं कोरोना वायरस के कारण दुनिया में 24 घंटे में हुई सबसे ज्यादा मौतें अमेरिका में दर्ज की गई हैं.

कोरोना महामारी का अंधकार मिटाने के लिए आज दीप जलाएगा देश, पीएम मोदी ने की थी अपील

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश वीडियो संदेश में कहा था कि कोरोना के अंधकार को प्रकाश की ताकत से हराने की जरूरत है. इसके लिए प्रधानमंत्री ने लोगों से रविवार को रात नौ बजे नौ मिनट तक दीया जलाने की अपील की.
देश में कोरोना वायरस का संकट बढ़ता जा रहा है. संकट के इस वक्त में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों से एकजुटता का संदेश देने के लिए 5 अप्रैल को लाइटें बंद रखने का आह्वान किया. ऐसे में देश की जनता भी आज रात दीया, मोमबत्ती और मोबाइल की फ्लैश लाइट जलाकर एकजुटता दिखाने को तैयार है.

कोरोना संकट के चलते देश में 21 दिनों तक लागू किए गए लॉकडाउन के दौरान शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को वीडियो संदेश दिया था. प्रधानमंत्री ने देशवासियों से अपील करते हुए कहा कि कोरोना के अंधकार को प्रकाश की ताकत से हराने की जरूरत है. इसके लिए प्रधानमंत्री ने लोगों से रविवार को रात नौ बजे नौ मिनट तक दीया जलाने की अपील की, इसका मकसद एकजुटता का संदेश देने से है.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपील की थी कि 5 अप्रैल रविवार को रात नौ बजे नौ मिनट के लिए लोग अपने घरों की लाइटें बंद करें और दरवाजे-खिड़की पर खड़े होकर दीया, मोमबत्ती जलाएं या फिर मोबाइल की फ्लैश लाइट-टॉर्च से रोशनी करें. इस शक्ति के जरिए हम ये संदेश देना चाहते हैं कि देशवासी एकजुट हैं. पीएम ने कहा कि एकजुटता के दमपर ही इस महामारी को मात दी जा सकती है.