प्रशिक्षुओं ने कहा बनवासी सेवा आश्रम दे रहा है समाज को नई दिशा

तेज एक्सप्रेस न्यूज़ /संदीप अग्रहरी/ अमित रावत
– बनवासी सेवा आश्रम में दल ने खादी ग्रामोद्योग का भी जाना हाल

म्योरपुर। ब्लॉक के गोविन्दपुर स्थित गांधी विचार धारा से जुड़ कर सामाजिक कार्य और ग्राम स्वराज्य की दिशा में काम कर रही सामाजिक संस्थान बनवासी सेवा आश्रम में गुरुवार को आईएएस प्रशिक्षुओं का दल ग्राम स्वराज्य की संकल्पना और उस पर काम करने की विधा का अध्ययन किया।इसके साथ ही उन्होंने टावर सिस्टम से सिंचाई, जैविक खेती, खादी ग्रामोद्योग द्वारा निर्मित साबुन, तेल, मशाला व कपड़े का निर्माण देखा।उन्होंने रेशम कीट, चरखा द्वारा सूत की कताई आदि का भी काम देखा।आश्रम की मुखिया शुभा प्रेम ने इसके पूर्व विचित्रा महाकक्ष में बैठक कर आश्रम की नींव पडने से लेकर अब तक के कार्यो और गतिविधियों की विस्तार से जानकारी दी और कहा कि आश्रम का मुख्य उदेश्य यहां के लोगो को जागरूक करना तथा स्थानीय स्तर पर रोजगार के अवसर खुद खड़े करने की है।साथ ही गांधी विचार धारा के माध्यम से सामाजिक सौहार्द बनाना तथा आर्थिक सामाजिक सांस्कृतिक विकास करना है।कहा कि समय के अनुसार जैसी समस्या समाज मे खड़ी होती है उस पर लोगो के साथ मिल कर समस्या का समाधान की कोशिश की जाती है।उन्होंने भूमि हकदारी और सर्वे सेटलमेंट के द्वारा लोगो की जमीन दिलाने की बात के साथ पर्यावरण प्रदुषण की समस्या से उत्पन्न स्थिति की जानकारी दी।टीम के अगुआ संजय, डॉ अनु कुमारी, शेखरआनंद, सिद्धार्थ जैन ने कहा की आश्रम आकर कुछ अलग देखने और ग्रामीण जीवन,स्थानीय संसाधनों पर आधारित रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के तरीके का ज्ञान मिला।कहा कि हम लोग जहां भी रहेंगे इस प्रयोग को जरूर उतारने की कोशिश करेंगे।इस मौके पर एसडीएम रामचन्द्र, तहसीलदार शशि भूषण मिश्रा, थाना प्रभारी शिवकुमार मिश्र, खण्ड शिक्षा अधिकारी एसपी सहाय, डॉ विभा, विमल सिंह, देवनाथ सिंह, रामनारायण, दिनकर चौधरी,रोहतास रघुवंसी, अभिषेक यादव, केवला दुबे, लालबहादुर शिवसरन सिंह आदि उपस्थित रहे