स्वच्छ भारत अभियान की उड़ाई जा रही है धज्जियां

तेज़ एक्सप्रेस न्यूज़ –

नरेंद्र कुमार सिंघानिया/जालौन
माधौगढ़- पूरे देश में जहां प्रधानमंत्री सफाई की बात कर रहे हैं। सफाई कर्मियों के पैर धोकर उनको सर माथे पर बैठाने का काम कर रहे हैं। वहीं गांव में तैनात सफाई कर्मी लापरवाही करते हुए सिर्फ वेतन निकालने का काम कर रहे हैं।न वह अपने काम के प्रति जिम्मेदार हैं और ना वफादार सिर्फ और सिर्फ सरकार की मोटी तनख्वाह लेकर मजा ले रहे हैं। सफाई की ऐसी ही तस्वीर ब्लॉक के मिहोनी गांव की है। जहां 2- 2 महीने सफाई कर्मी कोमलादेवी नहीं आती। न कभी गांव में झाड़ू लगाती हैं ना कभी नालियों की सफाई करती हैं। इस कारण चारों ओर गंदगी ही गंदगी पसरी हुई है। नालियां कीचड़ से बज बजा रही हैं। हालत यह हो गई कि गंदगी की वजह से संक्रमण हो सकता है। ग्रामीण बीमारी की चपेट में आ सकते हैं। लेकिन सफाई कर्मी को कोई चिंता नहीं है। गांव के पहलाद सिंह, मुनीम सिंह,तेज सिंह,समर सिंह सफाई कर्मी की शिकायत करते हुए कहते हैं। सफाई कर्मी गांव में कभी नहीं आती।उनके घर के सामने नालियां बज बजा रही हैं। सफाई कर्मी के ना आने के कारण नाली की सफाई उन्हें स्वयं को करनी होती है। वहीं सफाई कर्मी की लापरवाही पर ग्राम प्रधान विनोद प्रताप सिंह कहते हैं कोमला देवी महिला होने का पूरा फायदा उठाती हैं। उनकी लापरवाही पर उनको नोटिस देकर दो बार वेतन रोका गया फिर भी उनकी कार्यशैली में कोई सुधार नहीं हुआ। लिहाजा अब की बार से नोटिस देकर वेतन तो रुकवा ही जाएगा साथ में उन्हें सस्पेंड कराने की कार्यवाही कराई जाएगी।