मुस्लिम समाज के लोगों द्वारा अपने अपने घरो पर ही अलविदा जुम्मा की नमाज़ अदा की गई।

संतोष सोनी संवाददाता शक्तिनगर

शक्तिनगर लाकडाउन के खड़िया बाजार स्थित जामा मस्जिद व आस पास की सभी मस्जिदो मे रमजानुल मुबारक के आखरी शुक्रवार यानि अलविदा जुम्मा की नमाज़ मुस्लिम बंधुओं ने अपने अपने घरों में ही अदा खान हाजी मोइनुद्दीन अंसारी (दमड़ी भाई)इस दौरान खड़िया बाजार जामा मस्जिद के सदर जनाब से पूछे जाने पर उन्होंने खड़िया बाजार की आवाम को अपील करते हुए कहा कि अपने अपने घरो पर ही ईद की नमाज अदा करें इस मुश्किल दौर में हम सबकी जिम्मेदारी है कि इस जानलेवा वायरस कोरोना से खौफ खाने की बजाय उससे अपनी और अपने साथ समाज की हिफाजत के लिए सामाजिक दूरी का पालन करें साथ ही अपने घरों में ही रहे और मुल्क की सलामती के लिए रोजाना घर पर ही दुआख्वानी पढ़े हाजी मोइनुद्दीन अंसारी (दमड़ी )भी अपने घर पर ही जोहर की नमाज़ अदा की और उन्होंने बताया कि कोविड-19 से रोकथाम हेतु सरकार के गाईड लाईन के अनुसार सभी लोग सामाजिक दुरी का पालन करते हुए अपने अपने घरो पर ईद की नमाज़ पढे़ और पूरे मुल्क की सलामती के लिए दुवाए मागे।वही अलविदा जुम्मा के मौके पर मुस्लिम बन्धुओं ने अपील को माना और नमाज़ के लिए मस्जिदों का रूख नही किये,लोगों ने अपने अपने घरो पर ही नमाज़ अदा की और विश्व महामारी कोरोना वायरस से निजात के लिए दुआ मांगी ईद की नमाज़ सुबह 8 बजे मुकर्रर की गई है अन्ततः अपने अपने घरो पर ही ईद की नमाज़ पढ़े।