। नोवेल कोरोना वायरस के कारण लॉक डाउन में गरीब परिवार को मनरेगा से रोजगार उपलब्ध

तेज एक्सप्रेस न्यूज़ इब्राहीम
दुद्धी । नोवेल कोरोना वायरस के कारण लॉक डाउन में गरीब परिवार को मनरेगा से रोजगार उपलब्ध कराने में दुद्धी ब्लॉक क्षेत्र के दिघुल ग्राम पंचायत ने अपनी बेहतरीन उपलब्धि हासिल की है। लॉकडाउन में लोगों उपलब्ध कराना सरकार के प्राथमिकताओं में शुमार है और सरकार लगातार प्रयास कर रही हैं कि ग्राम पंचायतों में भी अधिक से अधिक लोगों को रोजगार उपलब्ध कराया जाए जिसका एक मात्र उपाय मनरेगा ही है ।सरकार को मंशा को पूरी तरह से लागू करने में दुद्धी ब्लॉक के दिघुल गांव के ग्राम प्रधान हरिशंकर यादव ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हुए लॉकडाउन के दौरान प्रतिदिन 658 मजदूरों तक को रोजगार उपलब्ध करा चुके हैं जो दुद्धी ब्लॉक क्षेत्र के लिए सबसे अग्रणी है ।गत सोमवार को दिघुल गांव में मनरेगा से 647 मजदूर काम कर रहे थे ।इस तरह से देखा जाए तो लॉकडाउन में गरीबों के लिए मददगार साबित हो रही मनरेगा योजना को अपने ग्राम पंचायत में बुद्धिमत्ता पूर्ण ढंग से लागू करते हुए अपने ग्राम पंचायत के मजदूरों को अधिक से अधिक लाभ देने में महत्वपूर्ण भूमिका जरूर निभाई है।
मनरेगा से मजदूरों को रिकार्ड रोजगार देने के मामले में दिघुल गांव के ग्राम प्रधान हरिशंकर यादव,जे ई बालेश्वर चौरसिया,ग्राम विकास अधिकारी राघवेन्द्र सिंह तथा रोजगार सेवक राजेश यादव महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं।

खण्ड विकास अधिकारी रमाकांत सिंह ने कहा कि इस समय मजदूरों को रोजगार से जोड़ना सरकार की प्राथमिकता है इसके तहत दुद्धी ब्लॉक के हर ग्राम पंचायतों में मजदूरों को मनरेगा से रोजगार उपलब्ध करा रही हैं ।मनरेगा से रोजगार उपलब्ध कराने में ग्राम पंचायत दिघुल की भूमिका अग्रणी है जो अच्छी बात है इसी तरह अन्य ग्राम पंचायतों में भी अधिक से अधिक मजदूरों को रोजगार उपलब्ध कराने का पूरा पूरा प्रयास किया जा रहा है।