शासन की सख्ती से एक ओर हड़कंप दूसरी ओर हौसले बुलंद।

तेज एक्सप्रेस न्यूज़ बभनी

बालू माफियाओं के आगे विवश सागोबांध के ग्रामीण।
ख्वाजा खान बभनी।

बभनी। छत्तीसगढ़ के भैंसामुंडा से आ रही ओवरलोड वाहनों पर जब अधिकारियों के द्वारा बुद्धवार को कार्रवाई करते हुए 16 ट्रकों को सीज किया गया तब छत्तीसगढ़ सीमा पर आसनडीह क्षेत्र में हड़कंप मच गया तो वहीं दूसरी ओर छत्तीसगढ़ के सेमरा घाट से आ रही ओवरलोड परिवहन लगातार चल रहे हैं जो रुकने का नाम नहीं ले रहे हैं दो वर्ष पूर्व बनी महुअरिया शीशटोला संपर्क मार्ग पर फर्राटे भर बालू की गाड़ियां चल रही हैं जिस मामले में भी उप जिलाधिकारी ने सख्ती बरतने का आश्वासन दिया है। वहीं बभनी थाना क्षेत्र के सागोबांध में स्थित पांगन नदी व सीमा से सटे त्रिशूली घाट से ओवरलोड बालू लदे ट्रक चुनौती देते हुए नजर आ रहे हैं जिससे क्षेत्र के दर्जनों संपर्क मार्ग गड्ढों में तब्दील हो चुके हैं स्थानीय ग्रामीणों ने बताया कि वर्ष भर में सैकड़ों बार लोगों ने प्ररदर्शन भी किया गाड़ियों को भी रोका परंतु कार्रवाई के बाद कुछ दिनों के लिए खनन रुक तो जाता है परंतु वही युद्ध स्तर पर खनन करने में जुट जाते हैं जिससे ग्रामीण बालू माफियाओं के आगे विवश हो जाते हैं यदि देखा जाए तो क्षेत्र के दर्जनों गांवों को जोड़ने वाली संपर्क मार्ग गड्ढों में तब्दील हो चुके हैं सागोबांध क्षेत्र के ग्रामीणों ने नवागत जिलाधिकारी का ध्यान आकृष्ट कराते हुए अवैध खनन पर अंकुश लगाने की मांग की है।इस संबंध में जब उप जिलाधिकारी रमेश कुमार ने कहा कि ओवरलोड वाहनों का लिंक मार्गों पर चलना उचित नहीं है वैसे भी ओवरलोड वाहनों के खिलाफ तत्काल कार्रवाई की जाएगी।